पीएम मोदी के खिलाफ जेल में रहकर चुनाव लड़ेंगे ‘बाहुबली’ अतीक अहमद

बीएसएफ जवान तेज प्रताप यादव को बनाया अपना उम्मीदवार

प्रयागराज: लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी से वाराणसी लोकसभा सीट पर नैनी जेल में बंद ‘बाहुबली’ अतीक अहमद लोकसभा चुनाव लड़ेगा. वहीं, समाजवादी पार्टी ने भी इस सीट पर अपना प्रत्याशी बदलते हुए बर्खास्त बीएसएफ जवान तेज प्रताप यादव को अपना उम्मीदवार बना दिया है.

वहीं, अब अतीक अहमद के चुनाव लड़ने की घोषणा से मुकाबला चतुष्‍कोणीय होने की पूरे आसार नजर आ रहे हैं. अतीक अहमद अभी जेल में बंद है. हाल ही में अतीक अहमद की पत्‍नी ने उनके चुनाव लड़ने की घोषणा की थी. अतीक अहमद वाराणसी से प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ निर्दलीय उम्‍मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेगा.

इससे पहले खबरें आई थीं कि अतीक अहमद को शिवपाल की पार्टी ने वाराणसी से टिकट दिया है, लेकि‍न बाद में पार्टी ने इस बात का खंडन कर दिया. इस पर अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर इस बात की जानकारी दी है कि वह निर्दलीय उम्‍मीदवार के तौर पर मैदान में उतरेंगे.

जेल में बंद अतीक अहमद ने चुनाव प्रचार के लिए 3 हफ्ते की पैरोल भी मांगी थी. वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए शार्ट टर्म बेल की अर्जी को कोर्ट ने आज (29 अप्रैल) खारिज कर दिया है. जानकारी के मुताबिक, प्रयागराज की स्पेशल एमपी एमएलए कोर्ट ने बाहुबली की अर्जी को खारिज कर दिया है. अतीक अहमद इससे पहले भी वाराणसी से चुनाव लड़ चुके हैं. हालांकि, 2009 में उनका मुकाबला बीजेपी डॉ. मुरली मनोहर जोशी के साथ था. उस चुनाव में डॉ. मुरली मनोहर जोशी ने अतीक अहमद को मात दी थी.

Back to top button