PNB घोटाला: शत्रुघ्न सिन्हा फिर उड़ाया मोदी सरकार का मज़ाक

शत्रुघ्न सिन्हा का साफ-साफ इशारा केंद्रीय वित्तमंत्री के उस हालिया बयान की तरफ था, जिसमें PNB घोटाले के लिए ऑडिटिंग व्यवस्था को यह कहकर ज़िम्मेदार ठहराया गया कि 'या तो सिस्टम ने गड़बड़ियों को नज़रअंदाज़ किया, या लापरवाही से काम किया...'

नई दिल्ली:

फिल्म अभिनेता से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा अपनी पार्टी और सरकार के लम्बे समय से आलोचक बने हुए हैं | हाल ही में उन्होंने PNB घोटाले के लिए ऑडिटरों तथा नियामकों को ज़िम्मेदार ठहराने पर मोदी सरकार का मजाक उड़ाते हुए मंगलवार को कहा, “शुक्र है, उन्होंने चपरासी को बख्श दिया…”

दरअसल वित्तमंत्री ने PNB घोटाले पर हाल में ही बयान दिया था कि ‘या तो सिस्टम ने गड़बड़ियों को नज़रअंदाज़ किया, या लापरवाही से काम किया…’ पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा बागी तेवर अपनाए रहने वाले BJP नेता शत्रुघ्न का साफ-साफ इशारा केंद्रीय वित्तमंत्री के उस हालिया बयान की तरफ था, जिसमें PNB घोटाले के लिए ऑडिटिंग व्यवस्था को यह कहकर ज़िम्मेदार ठहराया गया कि

फिल्म अभिनेता से राजनेता बने शत्रुघ्न सिन्हा अपनी पार्टी और सरकार के लम्बे समय से आलोचक बने हुए हैं, और इस मसले पर उन्होंने यह भी कहा – ‘ताली कप्तान को, तो गाली भी कप्तान को…’ माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर शत्रुघ्न सिन्हा ने लिखा, “हमारे विद्वान साथियों ने नेहरू के शासनकाल से लेकर कांग्रेस के कुशासन तक सभी को दोषी ठहराने के बाद कहा कि PNB घोटाले के लिए ऑडिटर ज़िम्मेदार हैं… भगवान का शुक्र है,

उन्होंने चपरासी को बख्श दिया…”वर्ष 2011 में कांग्रेस-नीत यूपीए के कार्यकाल के दौरान शुरू हुए PNB घोटाले के बारे में उन्होंने लिखा, “बहसतलब सवाल यह है कि PNB के वास्तविक मालिक होने के नाते पिछले छह सालों में से चार साल तक यह सरकार क्या कर रही थी…?”

शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट में आगे लिखा, “क्या हमें कोई जवाब मिलेगा, सर… पूरे सम्मान के साथ कहना चाहता हूं – ताली कप्तान को, तो गाली भी कप्तान को…”अपनी बात को ज़ोरदार तरीके से कहने के लिए शत्रुघ्न सिन्हा ने उर्दू का एक शेर भी अपने ट्वीट में जोड़ा, “तू इधर-उधर की न बात कर, यह बता कि काफिला क्यों लुटा; मुझे रहज़नों से गिला नहीं, तेरी रहबरी का सवाल है…”

शत्रुघ्न सिन्हा ने हाल ही में PNB से जुड़े इस घोटाले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी की दावोस में आयोजित वर्ल्ड इकोनॉमिक समिट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने वाले शिष्टमंडल में मौजूदगी को लेकर भी सवाल किया था.

new jindal advt tree advt
Back to top button