बिज़नेस

PNB ने किया 1,415 कर्मचारियों का तबादला किया

नई दिल्ली : पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने बैंक में 11,400 करोड़ रुपए का घोटाला उजागर होने के बाद से 1,415 कर्मचारियों का तबादला कर दिया है। यह मामला पीएनबी की मुंबई शाखा से हीरा कारोबारी नीरव मोदी को गारंटी पत्रों (एलओयू) को लेकर की गई धोखाधड़ी से जुड़ा हैं।

मोदी ने कथित रूप से देश के दूसरे सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक अधिकारियों के साथ सांठगाठ में धोखाधड़ी से एलओयू हासिल किए और अन्य बैंकों की विदेशी शाखाओं से कर्ज लिया।

पीएनबी ने बयान में कहा, ‘बैंक ने 257 मातहत कर्मचारियों, 437 लिपिकों, 721 अधिकारियों को स्थानांतरित किया है। ये स्थानांतरण 19 फरवरी, 2018 से किए गए हैं।’

बैंक ने हालांकि, इन खबरों को खारिज किया कि उसने 18,000 कर्मचारियों का स्थानांतरण किया है। बैंक ने कहा कि इन 1,415 कर्मचारियों का स्थानांतरण बैंक की आवर्तन आधारित स्थानांतरण नीति के तहत किया है।

आरोप है कि घोटाले में शामिल कई बैंक कर्मचारी समान पद और समान शाखा में लंबे समय तक तैनात रहे। यह बैंक की मानव संसाधन नीति का उल्लंघन है।

इससे पहले 19 फरवरी को केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) ने पीएनबी के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक में नीरव मोदी और उसके मामा गीतांजलि समूह के मेहुल चौकसी से संबंधित घोटाले के बारे में जानकारी ली।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.