छत्तीसगढ़

प्रगति कॉलेज में हुआ काव्य-पाठ

रायपुर :प्रगति महाविद्यालय में 13 अक्टूबर को काव्य-पाठ प्रतियोगिता हुई। प्रतियोगिता में बताया गया कि काव्य जीवन की सुख-दुख, आशा-निराशा सभी प्रकार की अभिव्यक्ति का माध्यम है। काव्य है तो जीवन है, काव्य के माध्यम से व्यक्ति अपनी मार्मिक अभिव्यक्ति प्रस्तुत करता है।
इस अवसर पर विद्यार्थियों ने भावमयी अभिव्यक्ति प्रस्तुत की। अंजली प्रधान ने मेरा बचपन कविता के माध्यम से अपने बचपन का अनुभव सुनाया। पूजा ने एक मां की अपनी युवा होती लड़की के प्रति अभिव्यक्ति सुभद्राकुमारी चौहान की कविता सुनाई, इसके बाद एकांश कोचर ने इंसानियत पर कविता सुनाया। देश प्रेेम के बारे में खुशी मोहता ने कविता सुनाकर सबके मन मोह लिया।
प्रतियोगिता की निर्णायिका डॉ. रश्मि पटेल, प्राचार्य, विवेकानन्द विद्यापीठ, रायपुर थीं। इस दौरान विद्यार्थियों ने काव्य में एक अनूठा समां बांधा और कार्यक्रम को सफल बनाकर अपनी बहमुखी प्रतिभा का परिचय दिया।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.