हिंदी साहित्य भारती जिला इकाई कोरबा द्वारा आयोजित काव्य गोष्ठी

हिन्दी साहित्य भारती

दिनाँक 05/01/2021 को हिन्दी साहित्य भारती द्वारा काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। हिन्दी साहित्य भारती जिला इकाई कोरबा के संयोजक देवव्रत”देव,,ने बताया ,हिंदी भाषा के प्रचार प्रसार हेतु इस तरह का कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में कोरबा के जाने माने साहित्य कार और ग़ज़लकार डॉ मणिक विश्वकर्मा “नवरंग,, जी उपस्थित रहे,विशिष्ट अतिथि के रूप में हिन्दी साहित्य भारती की प्रांतीय महामंत्री डॉ सुनीता मिश्राजी और कार्यक्रम की अध्यक्षता हिन्दी साहित्य भारती के प्रांतीय अध्यक्ष डॉ बलदाऊ साहूजी ने किया ।इस ऑन लाइन काव्य गोष्ठी में विभिन जिलों से कवियों और कवियित्रियों ने हिस्सा लिया।

सोनिया सोनी की सुरीली आवाज

कार्यक्रम की शुरुआत भिलाई से उपस्थित सोनिया सोनी की सुरीली आवाज में प्रस्तुत सरस्वती वंदना से की गई पाली से उपस्थित अनुज “छत्तीसगढ़िया,, मुकेश उइके,और भगबली उइके ने छत्तीसगढ़ी भाषा में रचनाएँ प्रस्तुत करके खूब वाहवाही बटोरी,कटघोरा से उपस्थित प्रोफेसर शिवकुमार दुबे जी ने मजदुरों के शोषण उत्पीडन को लेकर बहुत अच्छी ग़ज़ल प्रस्तुत किया।

डॉ “नवरंग” की ग़ज़लों पर श्रोताओं ने खूब तालियाँ बरसायी,कटघोरा से उपस्थित सरजू प्रसाद डिकसेना जी ने नव वर्ष शीर्षक से गीत प्रस्तुत किया। बिलासपुर से पटल पर उपस्थित मनोज खांडे”मन,, के द्वारा प्रस्तुत ग़ज़लों की भी सराहना की गई। सुनीता मिश्रा ने अपने गीतों और मुक्तक को सुनाकर खूब रंग जमाया,भिलाई से पटल पर उपस्थित सोनिया सोनी ने भी दिल खोलकर रचनायें पढ़ी और और श्रोताओं को लुभाये रखा कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डॉ बलदाऊ साहू ने आंग्ल नव वर्ष का अपनी रचनाओं के माध्यम से स्वागत करते हुए बहुत सुंदर बालगीत प्रस्तुत किया।

कार्यक्रम के अंत में चंदनपुर से आये हुए नवोदित किन्तु बहुत कम समय में साहित्यिक क्षेत्र में बुलंदियों को प्राप्त करने वाले देवव्रत”देव,,जी ने श्रोताओं के मध्य अपना स्थान बनाने में कामयाबी हासिल की,इस कार्यक्रम का संचालन कर रहे..रवि पांडेय ने अपनी ग़ज़ल सुनकर श्रोताओं का मन मोह लिया,रवि पांडेय के द्वारा कार्यक्रम का सफल संचालन किया गया।देवव्रत”देव,, के द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित सभी कवियों,कवियित्रियों और श्रोताओं का सहृदय आभार व्यक्त किया गया ,कार्यक्रम के समापन की घोषणा मणिक विश्वकर्मा”नवरंग,,के द्वारा किया गया ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button