राष्ट्रीय

इस वजह से पोकरण में एम-777 तोप में हुआ विस्फोट

नई दिल्लीः भारत के खराब क्वालिटी के गोला-बारूद की वजह से अमरीका निर्मित तोप की नली फट गई थी। जांच में इसका खुलासा हुआ है। बता दें, पोकरण में दो सितंबर को एम-777 तोप में भारतीय गोला-बारूद का परीक्षण किया गया था। उस दौरान तोप की नली में विस्फोट हो गया था। सूत्रों के अनुसार जांच में पता चला है कि यह विस्फोट आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड (ओएफबी) की ओर से खराब गोला-बारूद आपूर्ति करने के कारण हुआ था।

हालांकि, अभी मामले में जांच जारी है। ओएफबी के प्रवक्ता उद्दीपन मुखर्जी से जांच के निष्कर्ष के बारे में पूछे जाने पर कहा, “ऐसी किसी प्रकार की असफलता आंतरिक बैलेस्टिक से जुड़ी किसी जटिल घटना के कारण हो सकती है क्योंकि नली के अंदर गोला बेहद तेज गति से घूमता है।”

उन्होंने कहा कि केवल गोले की गुणवत्ता ही एक कारण नहीं है बल्कि कई कारणों से इस प्रकार की चूक हो सकती हैं। जांच के निष्कर्षों के बारे में कोई खास टिप्पणी किए बगैर उन्होंने कहा कि एम-777 तोप में इस्तेमाल किए गए गोले के गुणवत्ता का परीक्षण किया गया था।

गौरतलब है कि बोफोर्स घोटाले का खुलासा होने के करीब 30 वर्ष बाद भारत को मई में दो बेहद हल्की हॉवित्जर तोपें मिली थीं। इस एक तोप की कीमत 35 करोड़ रुपए थी और इन्हीं तोप के परीक्षण के दौरान दुर्घटना हुई थी। सेना के सूत्रों ने बताया कि विस्फोट में तोप की बैरल क्षतिग्रस्त हो गई थी।

Summary
Review Date

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.