तपन सरकार के एक शूटर को पुलिस ने गुरुर से किया गिरफ्तार 

भिलाई।

तपन सरकार के एक शूटर को पुलिस ने बालोद जिले के गुरुर से गिरफ्तार किया है। पुलिस के गिरफ्त में शूटर विजय मेनन ने कई सनसनीखेज खुलासे किए हैं। पूछताछ में उसने बताया कि युवकों को नशे की लत लगाकर उन्हें अपनी प्रेमिका के साथ बुलाता था। इस दौरान उनके अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल भी करता था। सूत्रों के मुताबिक उसने कई लड़कियों के साथ यौन शौषण करने का अपराध कबूल किया है। जेवरासिरसा चौकी और स्मृति नगर चौकी में अपराध दर्ज होने के बाद से आरोपी फरार था।

-पुलिस बचने दाढ़ी को करा ली थी छोटी

पुलिस से बचने के लिए आरोपी ने अपनी दाढ़ी भी छोटी करा ली थी। पुलिस ने आरोपी को अवैध गांजा के साथ गिरफ्तार किया। आरोपी बहुत ही शातिर गुंडा है। उसने तपन सरकार के इशारे पर कई अवैध कार्य किए।

-महिला अधिकारी के पति को ब्लेड भी मारा था

दुर्ग जेल की एक महिला अधिकारी के पति को ब्लेड भी मारा था। आरोपी ने अब तक की पूछताछ में प्रदेश के कई प्रभावशाली और सफेदपोश लोगों से अपने संबंध होने की जानकारी दी है। दीनदयाल उपाध्याय कॉलोनी जुनवानी के दो लोगों ने तपन सरकार के गुर्गे विजय मेनन उर्फ विज्जू के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

-रिपोर्ट दर्ज होते ही आरोपी फरार हो गया था

रिपोर्ट दर्ज होते ही आरोपी विजय मेनन फरार हो गया था। आरोपी को बालोद जिले के गुरुर में 10 किलो 600 ग्राम गांजा के साथ गिरफ्तार कर उसके खिलाफ नारकोटिक्स एक्ट की धारा-20बी के तहत कार्रवाई की है। इसके साथ ही उसे ट्रांजिट रिमांड पर दुर्ग भी लाया जा रहा है। आरोपी विजय मेनन के खिलाफ जामुल, छावनी, भिलाई-3 और पुलगांव में मारपीट, लूट, चाकूबाजी, अवैध वसूली, शराब व गांजा तस्करी और डकैती की योजना बनाने के करीब दो दर्जन मामले दर्ज हैं।

-13 साल पहले आया था तपन के संपर्क में

आरोपी विजय मेनन ने पुलिस को जानकारी दी है कि वो वर्ष 2005 में गांजा तस्करी के मामले में दुर्ग जेल गया था। वहीं पर उसकी तपन सरकार से मुलाकात हुई थी। जेल से छूटने के बाद विजय मेनन ने तपन के लिए अवैध काम शुरू कर दिया।

-इन कार्यों में भी रही थी संलिप्तता

विजय मेनन ने यह भी बताया कि अन्ना दुबे के माध्यम से उसकी मुलाकात शैलेष सिंह और किसी मलिक भाई से हुई थी। दोनों ने उसे फरिश्ता कॉम्प्लेक्स के पीछे की जमीन खाली कराने का जिम्मा दिया था।

इसके बाद इसने रणजीत उर्फ राणे के साथ मिलकर लोगों को डरा-धमकाकर फरिश्ता कॉम्प्लेक्स की जमीन खाली कराई थी। इसके एवज में इसे डेढ़ लाख रुपए मिले थे। विजय मेनन ने राजनांदगांव के शराब कारोबारी अमोलक सिंह भाटिया के लिए डोंगरगढ़ नपं अध्यक्ष तरुण हथेल व अन्य के साथ गुंडा मैनेजर का काम करने की भी बात बताई।

-कॉलेज स्टूडेंट्स को करता था गांजा सप्लाई

विजय मेनन पहले जामुल में रहता था, लेकिन इसने वर्तमान में दीनदयाल उपाध्याय कॉलोनी जुनवानी को अपनी ठिकाना बना रखा था। जुनवानी के बड़े कॉलेज और स्कूल के स्टूडेंट्स को ये गांजा और ड्रग्स की सप्लाई करता था।

तपन के नाम पर लोगों को धमकाकर इसने कॉलोनी में अपनी गुंडागर्दी स्थापित की थी। लोगों को धमकाकर मारपीट कर पैसे व मोबाइल लूटने की कई शिकायतें पुलिस को मिली हैं। इसके साथ ही कॉलोनी की महिलाओं और कॉलेज की छात्राओं को भी धमकाकर उनका दैहिक शोषण करने की जानकारी पुलिस को मिली है। शिकायतकतार्ओं के साथ पहुंची कुछ महिलाओं और युवतियों ने यह पुलिस को बताया है।

– विजय मेनन को पकड़ने के बाद अभी भी उससे पूछताछ की जा रही

– विजय मेनन को पकड़ने के बाद अभी भी उससे पूछताछ की जा रही है। इसके पकड़े जाने से बहुत सारी अहम जानकारियां मिल सकती है। इसकी गिरफ्तारी तपन सरकार और उसके पूरे गिरोह के लिए एक बड़ा झटका है। इसने आम लोगों में अपनी दहशत बना रखी है। विजय मेनन के सताए लोगों से हम अपील करते हैं कि वे बिना किसी भय के सामने आकर शिकायत करें। ताकि आरोपी को कठोर से कठोर सजा मिल सके।
– जीपी सिंह, आइजी दुर्ग रेंज

new add new add
Back to top button