बलात्कार व चोरी का आरोपी पुलिस के गिरप्त में

- जे. के.

बालोद: बलात्कार की पीडिता को गलत नियत से बहला फुसलाकर नकली पुलिस बनकर अपने साथ ले जाने वाले आरोपी युवक को बालोद पुलिस ने आखिरकार गिरफ्तार कर लिया हैं, आरोपी चोरी की कई वारदातों को भी अंजाम दे चूका हैं, जिसका खुलासा एएसपी डीआर पोर्ते ने पुलिस कंट्रोल रम में आयोजित प्रेस वार्ता में किया.

एएसपी डीआर पोर्ते ने मामले में बताया की बालोद थाना क्षेत्र अंतर्गत बलात्कार की पीडिता के बारे पे पता कर अज्ञात आरोपी के द्वारा सिविल ड्रेस में नकली पुलिस वाला बनकर पीडिता के पेशी के दिन पीडिता के घर पंहुच कर आरोपी अपने आप को पुलिस वाला बोलकर पीडिता तथा पीडिता की माँ को कहा की मैं गुरुर थाने से आया हू, एक लेटर बनाना हैं, जिसके लिए आपकी बेटी को गुरुर थाना जाना जरुरी हैं.

Police arrested in rape and robbery case

अज्ञात आरोपी ने पीडिता और पीडिता की माँ को बहला फुसलाकर गलत नियत से चोरी के मोटरसाईकल पैसन प्रो. (फर्जी नम्बर प्लेट सीजी 24 जे 7275) से पीडिता को गुरुर थाना ले जाने के बहाने वनांचल क्षेत्र बडझूम की ओर ले गया था, तथा रास्ते में गलत नियत रखकर जबरदस्ती हाथ बाह पकड़कर शारीरिक संबंध बनाने की मांग करने लगा, जिससे पीडिता डर कर गाडी से कूद गई थी, जिससे पीडिता को चोट आई थी.

सीसी टीवी फुटेज के मिलान के दौरान पता चला

उक्त घटना की शिकायत पीडिता ने बालोद थाने में की थी, थाना बालोद में अपराध दर्ज कर मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी एमएल कोटवानी के मार्गदर्शन व एएसपी डीआर पोर्ते, एसडीओपी पीसी श्रीवास्तव के निर्देशन में थाना प्रभारी बालोद द्वारा पतासाजी किया गया, पतासाजी के दौरान राजनांदगांव, दुर्ग, रायपुर, धमतरी एवं गुरुर के कई दुकानों व पेट्रोल पंप में लगे सीसी टीवी फुटेज के मिलान के दौरान पता चला की आरोपी मुकेश कुमार सेन पिता प्रेमलाल सेन (29वर्ष) ग्राम लिमोरा निवासी से बारीकी से पूछताछ करने पर उक्त अपराध घटित करना एवं अन्य अपराध कबूल किया.

आरोपी मुकेश कुमार सेन को न्यायायिक रिमांड में उपजेल बालोद भेज दिया गया हैं, इस अपराध को डिटेक्ट करने में थाना प्रभारी रामकिंकर यादव, प्रशिक्षु डीएसपी अमर सिदार, उपनिरीक्षक शोभा यादव, आरक्षक संदीप यादव, राजेश पांडे, भोपसिंह साहू, दुलेश्वरी साहू, राहुल मनहरे और साईबर सेल में पदस्थ पुरनप्रसाद देवांगन का सराहनीय योगदान रहा हैं,

आरोपी ने चोरी की कई वारदातों को दिया अंजाम

बालोद थाना में वर्ष 2011 एवं 2016 में चोरी के कई मामले दर्ज हैं, जिसे भी आरोपी मुकेश कुमार सेन के द्वारा किया जाना कबूल किया गया हैं, आरोपी मुकेश कुमार सेन ने अपने सहयोगी आरोपी के साथ अलग-अलग जगहों में चोरी की वारदात को अंजाम दिया हैं, आरोपी मुकेश कुमार सेन ने एक अन्य आरोपी के साथ मिलकर एक माह पूर्व राजनांदगांव जिले के अम्बागढ़ चौकी मार्ग से एक मोटरसाईकिल पैसन प्रो चोरी किया गया था.

5 अप्रैल 2019 को आरोपी मुकेश कुमार सेन ने सहयोगी एक अन्य आरोपी के साथ ग्राम झलमला के घोटिया चौक के पास जीनत बेगम के घर से एक सोने का मंगलसूत्र, जिसमे 10 नग सोने का दाना व 1 नाग सोने का लॉकेट लगा था तथा नगदी 5 हजार रूपये व 2 नग मोबाईल फोन चोरी किया गया था तो वही उक्त आरोपी ने अपने सहयोगी के साथ 14 अप्रैल 2019 को धमतरी जिले के ग्राम सलोनी भाठापारा में शांतिबाई के घर में ताला तोड़कर 2 सोने के कंगन, 5 नग चांदी के सिक्के, सूटकेस से नगदी 1 लाख रूपये, गुल्लक से 1, 2, 5 और 10 के सिक्कों से नगदी 1 हजार रूपये और 1 नाग माईक्रोमैक्स का मोबाईल चोरी किया गया था।

आरोपी के पास से गाडी सहित सोने के जेवरात जब्त

चोरी के वारदातों को अंजाम देने वाला व नकली पुलिस बनकर गलत नियर से पीडिता को बहला फुसला अपन साथ ले जाने वाला आदतन आरोपी मुकेश कुमार सेन को तो पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया हैं, किंतु सहयोगी आरोपी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं, हालाकि पुलिस ने दावा किया हैं उसे भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जावेगा, आरोपी मुकेश कुमार सेन के कब्जे से 1 मोटरसाईकिल हीरो पैसन प्रो., 1 जोड़ी सोने के कंगन, 1 सोने का मंगलसूत्र जिसमे सोने के दाने व लाकेट लगा हुआ मिला हैं, जब्त किए गए सभी सामानों की अनुमानित कीमत 97 हजार पुलसी द्वारा बताई गई हैं।

Back to top button