छत्तीसगढ़

निगरानीशुदा बदमाश की हत्या के आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बहन से छेड़खानी का बदला लेने युवक ने की निगरानीशुदा बदमाश की हत्या

रायपुर: उरला इलाके में हुए हत्या की जानकारी मिलने के बाद मामले को गंभीरता से लेते हुये एसएसपी आरिफ शेख ने क्राइम एडिशनल एसपी एवं उरला सीएसपी अभिषेक माहेश्वरी को जांच के आदेश दिये। उरला सीएसपी के नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन कर घटना के एक घंटे के अंदर दीपक जोगी उर्फ देवार को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस पूछताछ में दीपक ने बताया कि उसी ने ही रूपेन्द्र देवांगन की हत्या की थी और इस हत्या में उसके दो अन्य साथी भी शामिल थे। पुलिस ने देर रात पुरूषोत्तम देवांगन निवासी बजरंग नगर बीरगांव और युवराज साहू निवासी संतोषी नगर बीरगांव को गिरफ्तार किया गया।

दीपक का अपनी बहन को लेकर 9 दिसबंर को रूपेन्द्र के साथ विवाद हुआ था। मृतक रूपेद्र ने दीपक की बहन के साथ छेड़खानी की थी। इसी बात से दीपक का रूपेन्द्र के साथ 9 दिसंबर को जमकर विवाद भी हुआ था। इसी का बदला लेने के लिये रूपेंद्र की हत्या की योजना बनायी।

दीपक ने अपने एक दोस्त को रूपेन्द्र के पीछे रेकी के लिये लगाया हुआ था। जैसे ही रूपेद्र मंगलवार की रात आठ से नौ बजे के बीच सुनसान इलाका व्यास तालाब के पास पहुंचा तो इसकी जानकारी दीपक को दी गयी।

उसके बाद दीपक, पुरूषोत्तम, युवरात साहू तीनों ने मिलकर चाकू से गला रेतकर रूपेन्द्र की हत्या कर दी और शव को तालाब किनारे फेंक कर मौके से फरार हो गये थे। पुलिस ने तीनों आरोपियों को घटना के चंद घंटों बाद ही गिरफ्तार कर लिया था।

मृतक रूपेन्द्र देवांगन उरला इलाके का निगरानीशुदा बदमाश हैं और इलाके में आतंक के नाम से जाना जाता है। मृतक और आरोपी दोस्त थे सभी का एक दूसरे के साथ उठना-बैठना भी था। मृतक रूपेंद्र के खिलाफ उरला थाने में कई अपराध दर्ज है।

Tags
Back to top button