कांग्रेस भवन में पुलिस की गुंडागर्दी, एएसपी चंद्राकर ने मीडियाकर्मियों से किया दुर्व्यवहार

-पत्रकारों ने की आईजी से शिकायत, कल प्रेस क्लब भवन में मीटींग रखी गई

कन्हैया केशरवानी

बिलासपुर।

कांग्रेस भवन में पुलिस ने जमकर गुंडागर्दी दिखाई। एएसपी नीरज चंद्राकर के इशारे पर पुलिस कर्मियों ने कांग्रेसी नेताओं को डंडे से जमकर पीटा। यही नहींए महिला कांग्रेसियों को घसीटते हुए बाहर निकाला। वाहन में बिठाते समय प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव के सिर पर एक पुलिस कर्मी ने डंडे से मारा।इससे वह जमीन पर गिर पड़ा। इसके बाद पुलिस कर्मियों ने ताबड़तोड़ डंडे से पिटाई की। यह नजारा रूह कंपाने वाला था। एएसपी चंद्राकर ने मीडिया कर्मियों से दुर्व्यवहार भी किया।

बता दें कि कांग्रेसियों ने मंगलवार दोपहर में मंत्री अमर अग्रवाल के बंगले में कचरा फेंका। इसके बाद वे कांग्रेस भवन लौट आए थे। कुछ देर बाद पुलिस के अफसर बल के साथ कांग्रेसियों को गिरफ्तार करने पहुंचे। तब कांग्रेसियों ने पुलिस अफसरों से कहा कि गिरफ्तार करना था तो राजेंद्र नगर चौक में करते।यहां वे गिरफ्तार नहीं देंगे।

पुलिस ने कांग्रेसियों को चारों तरफ से घेर लिया। शाम को एएसपी नीरज चंद्राकर के इशारे पर पुलिस के जवान कांग्रेस भवन में घुस गए और कांग्रेसियों की जमकर पिटाई की। उन्हें घसीटते हुए भवन से बाहर लाया और वाहन बिठाया। पुलिस की पिटाई से कांग्रेस के बड़े नेता घायल हो गए हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

एएसपी चंद्राकर ने कहा. जो छापना है छाप लो, मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता

कांग्रेसियों पर लाठीचार्ज के बाद जब मीडिया ने एएसपी चंद्राकर से बयान लेना चाहा तो उन्होंने मीडियाकर्मियों को कांग्रेसी होने का हवाला देते हुए कहा कि जो छापना है छाप लो, मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। वर्दी की गरमी इतनी कि वे सीना ठोंकते हुए मीडिया कर्मियों को अपशब्द कह रहे थे।पीसीसी चेयरमैन बिलासपुर के लिए रवाना हो गये।

पुलिस के लाठीचार्ज करने के मामले को लेकर प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने रायपुर में प्रेस वार्ता कर घटना की कड़ी निंदा की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार में पुलिस गुंडा गर्दी कर रही है। वे बिलासपुर के लिए रवाना हो गए हैं।

पत्रकारों ने आईजी से की शिकायत

एएसपी चंद्राकर की कार्यप्रणाली को लेकर पत्रकारों में आक्रोश है। प्रेस क्लब अध्यक्ष तिलकराज सलूजा के नेतृत्व में पत्रकारों ने आईजी को ज्ञापन सौंपा। इसमें उन्होंने एएसपी चंद्राकर को हटाने की मांग की है। पत्रकारों से दुर्व्यवहार के मामले को लेकर बुधवार 1 बजे प्रेस क्लब भवन में मीटिंग रखी गई हैए जिसमें एएसपी चंद्राकर के दुर्व्यवहार के बारे में चर्चा कर निर्णय लिया जाएगा।

Back to top button