राष्ट्रीय

बिहार में पुलिस के हत्थे चढ़ा कुख्यात गैंगस्टर

गैंगस्टर विकास ने अपने साथी बबलू के साथ मिलकर एक नेपाली कारोबारी से 10 करोड़ रुपये की फिरौती वसूल की थी. उसी रकम को लेकर दोनों के बीच दुश्मनी हो गई थी.

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे शातिर गैंगस्टर को गिरफ़्तार किया है, जिसको न ही पुलिस का खौफ है और न ही कानून का डर. इस शातिर गैंगस्टर का नाम विकास है, जो बिहार का रहने वाला है. उसने कई दिनों से पुलिस की नाक में दम किया हुआ था.

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को जानकारी मिली थी कि गैंगस्टर विकास दिल्ली के आरके पुरम इलाके में छिपा हुआ है. जिसके बाद क्राइम ब्रांच ने बिना समय गवाए उसे पकड़ने के लिए कई टीम गठित की और आरके पुरम इलाके में छापेमारी शुरु की.

इसी दौरान शातिर बदमाश विकास जनकपुरी के संगम सिनेमा के पास से क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ गया. विकास ने अपने साथियों के साथ मिलकर अपने ही एक साथी गैंगस्टर बबलू दुबे की बिहार की एक कोर्ट में हत्या कर दी थी. इस हत्याकांड में विकास के साथी तो पकड़े गए थे, लेकिन वो फरार हो गया था.

विकास बिहार से भागकर दिल्ली आ गया और यहां छिपा रहा. पुलिस के मुताबिक विकास और बबलू दुबे ने अपने साथियों के साथ मिलकर 25 मई 2016 को नेपाल के एक बिजनेसमैन का अपरहण कर लिया था. इन लोगों ने उससे 10 करोड़ रुपये की फिरौती वसूल की थी. जब रकम के बंटवारे की बात आई तो बबलू ने विकास और उसके साथियों को एक भी रुपया देने से मना कर दिया था.

इस बात से विकास और उसके साथी काफी नाराज थे. इसी वजह से उन लोगों ने बबलू को निपटाने की साजिश रच डाली. जब बबलू एक मामले की सुनवाई के चलते कोर्ट में पेश होने पहुंचा तो उसी दौरान विकास ने अपने साथियों के साथ मिलकर कोर्ट में ही बबलू की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी.

क्राइम ब्रांच के डीसीपी रामगोपाल नाइक का कहना है कि विकास पर हत्या और फिरौती वसूलने के कई मामले दर्ज हैं. फिलहाल, दिल्ली पुलिस ने विकास को बिहार पुलिस को सौंप दिया है. बिहार पुलिस उसकी गिरफ्तारी के बाद से ही राहत की सांस ले रही है.

Tags
Back to top button