छत्तीसगढ़

पुलिस गाड़ी से कूदा आरोपी, विपरीत दिशा से आ रही गाड़ी के चपेट में आया, मौत

परिवार वाले ने सुपाड़ी देकर कराई थी भोला और सोनम की हत्या

बलरामपुर। किशोरी सोनम खातून हत्याकांड मामले में पुलिस ने जिस शूटर को गिरफ़्तार किया था, सुबह पुलिस हिरासत से भागने के प्रयास में विपरित दिशा से आ रही गाड़ी की चपेट में आ गया। चपेट में आने से आरोपी बुरी तरह घायल हो गया,जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां आरोपी की इलाज के दौरान मौत हो गई।

किशोरी की गोली मार की थी हत्या

जानकारी के मुताबिक 14 जुलाई को पस्ता थाने से बारह किलोमीटर दूर जंगल में किशोरी का शव मिला था। किशोरी की गोली मार हत्या की गई थी। किशोरी की पहचान झारखंड निवासी के रुप में करीब सात दिन बाद तब हुई जबकि किशोरी के परिजन अंबिकापुर पहुंचे।

पुलिस को तब परिजनों ने बताया कि, किशोरी का अपहरण गांव के शिक्षक भोला साव ने किया था। पुख्ता जानकारी मिलने के बाद पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई।

कुछ दिन बाद जांच में पुलिस को पता चला कि झारखंड के लातेहार में भोला साव की हत्या हो चुकी है। भोला साव की हत्या और किशोरी की हत्या के एक दिन पहले यानि 13 जुलाई को की गई थी।

किशोरी के परिजनों ने सुपाड़ी देकर कराई दोनो की हत्या

पुलिस विवेचना के दौरान यह स्पष्ट हुआ कि भोला साव ने सोनम खातून का अपहरण नही किया था। बल्कि प्रेम प्रसंग में दोनो घर से भागे थे। जिसके बाद किशोरी के परिजनों ने सुपाड़ी देकर दोनो की हत्या कराई।

इसके बाद बलरामपुर पुलिस ने हत्या में शामिल शूटर अजमेर उर्फ़ अजमूल्ला और इक़बाल को हिरासत मे ले लिया। हिरासत में लेने के बाद पुलिस आज सुबह हत्यारों को सोनम हत्याकांड की जगह पर जा रही थी तब पुलिस गाड़ी से आरोपी अजमेर कूद गया और कूदते ही विपरित दिशा से आ रही गाड़ी की चपेट में आ गया। वहीं इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

लड़की के पिता ने दिए थे हत्या के लिए आरोपियों को फिरौती

हत्या में म़तका के पिता ने सोनम और उसके प्रेमी भोला साव की हत्या के लिए अजमेर उर्फ़ अजमूल्ला को पैसे दिए थे। और भोला साव का गला रेत कर अजमूल्ला ने जबकि सोनम की हत्या अजमूल्ला के साथी इक़बाल ने गोली मार कर की। जिस वक़्त सोनम को इक़बाल ने गोली मारी अजमूल्ला उसके साथ मौजूद था।

Tags
Back to top button