रेप पीड़िता से पुलिसवाले ने की सेक्स की डिमांड

37 वर्षीय महिला अपने साथ रेप करनेवालों के खिलाफ शिकायत करने जब पुलिस थाने पहुंची तो वहां मौजूद इन्वेस्टिगेटिंग ऑफिसर ने उससे मदद के बदले सेक्स की ही मांग कर डाली। दरअसल, दो लोगों ने इस साल की शुरुआत में महिला से रेप किया। यह महिला रामपुर के गंज पुलिस स्टेशन मदद के लिए पहुंची और कहा कि उसके रेपिस्ट खुलेआम घूम रहे हैं और उसकी जिंदगी को खतरा है। महिला ने अपने आरोपियों को गिरफ्तार करने को कहा लेकिन ऑफिसर ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने से पहले महिला को अपने साथ सेक्स करने को कहा।

जब महिला ने इस मांग को मानने से इनकार कर दिया, तो पुलिस ने उसे एक और झटका दिया। सब-इंस्पेक्टर, जय प्रकाश सिंह ने मामले में क्लोजर रिपोर्ट फाइल कर दी। असहाय महिला ने एक बार फिर ऑफिसर से मदद की गुहार लगाई, लेकिन इस बार ऑफिसर से हुई बातचीत रिकॉर्ड कर ली। हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया के पास इस रिकॉर्डिंग की कॉपी है। इस सबूत के साथ बुधवार को महिला SP के पास गई, जिन्होंने इनवेस्टिगेशन ऑफिसर के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। अडिशनल सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस सुधा सिंह ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, ‘गंज स्टेशन ऑफिसर को इस मामले की जांच कर रिपोर्ट जमा करने का आदेश दिया गया है।’

पुलिस के मुताबिक, 12 फरवरी की रात महिला का दो लोगों ने गैंगरेप किया, जिनमें से एक उसका परिचित था। महिला अपने एक रिश्तेदार के यहां से वापस रामपुर सिटी लौट रही थी तभी दोनों ने उसे लिफ्ट दी, उसे घर छोड़ा और घर में उसे अकेला देख बंदूक की नोक पर महिला के साथ रेप किया।

पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज करने से इनकार कर दिया था। इसके बाद महिला ने स्थानीय कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और फिर एक हफ्ते बाद इस मामले में केस दर्ज किया गया।

21 फरवरी को 55 वर्षीय अमीर अहमद और 45 वर्षीय सत्तार अहमद के खिलाफ IPC की धारा 376 डी (गैंगरेप), 323 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया। महिला ने मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दर्ज किया।

रेप पीड़िता ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा, ‘जब भी मैंने SI जय प्रकाश सिंह से आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए कहा, उन्होंने पहले मेरे साथ सेक्स करने की मांग रखी। उन्होंने मुझे फोन कर के भी अपने घर आने को कहा। जब मैंने ऐसा करने से मना कर दिया, उन्होंने मामले में क्लोजर रिपोर्ट दायर कर दी।’

महिला ने आगे बताया, ‘उन्होंने रेप के बारे में कई बार आपत्तिजनक सवाल किए। इसके बाद उन्होंने मुझे कहा, तुम पहले मेरी हसरत पूरी करो, तब मुलजिम पकड़े जाएंगे। जब मुझसे यह बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने चुपके से उनकी सारी बातचीत रिकॉर्ड कर ली और आखिर में सीडी SP को सौंप दी।’

Back to top button