राजनीतिराष्ट्रीय

पुलिस ने मुझे धक्‍का दिया, लाठीचार्ज किया और जमीन पर गिरा दिया: राहुल गाँधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गाँधी वाड्रा के काफिले को रोका गया

नई दिल्ली: हाथरस गैंगरेप की पीडि़त के परिजनों से मिलने के लिए हाथरस जा रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गाँधी वाड्रा के काफिले को रोका गया और उन्‍हें धक्‍का दिया, लाठीचार्ज किया गया.

पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, ‘अभी पुलिस ने मुझे धक्‍का दिया, मुझ पर लाठीचार्ज किया और मुझे जमीन पर गिरा दिया. मैं पूछना चाहिता हूं कि क्‍या केवल मोदी जी देश में चल सकते हैं? क्‍या सामान्‍य आदमी सड़क पर नहीं चल सकता, हमारे वाहन को रोका गया, इसलिए हमने चलना शुरू कर दिया.”

कांग्रेस नेता की इस ‘यात्रा’ से पहले यूपी प्रशासन ने लोगों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लागू कर दिया था और कोरोनावायरस का हवाला देते हुए सीमा पर बैरिकेड लगा दिए थे. कांग्रेस नेताओं ने भी रास्‍ता रोका और नारेबाजी की. गांधी परिवार की SUV ने बॉर्डर क्रॉस की लेकिन उनके काफिले को ग्रेटर नोएडा पर रोक लिया गया. जहां उन्हें रोका गया था, वहां से हाथरस की दूरी 142 किलोमीटर है.

इसके बाद राहुल गांधी और प्रियंका अपने वाहन से बाहर निकले और कांग्रेस कार्यकताओं के साथ चलना शुरू कर दिया. इस दौरान कार्यकर्ता यूपी की योगी आदित्‍यनाथ सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे. कुछ देर बाद यूपी पुलिस ने उन्‍हें रोकने की कोशिश की.

हाथरस गैंगरेप को लेकर समाजवादी पार्टी की ओर से भी हाथरस बॉर्डर पर प्रदर्शन किया गया, सपा कार्यकताओं को यहां से पीड़िता के गांव जाने से रोक दिया गया. सोमवार से मीडिया को पीड़िता के गांव नहीं जाने दिया जा रहा है.

यूपी के अधिकारियों ने दावा किया कि कोरोना महामारी के चलते प्रतिबंध एक सितंबर से लागू हैं और इन्‍हें 31 अक्‍टूबर तक बढ़ाया गया है. एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने दावा किया कि बड़ी संख्‍या में पुलिसकर्मियों में कोरोना के लक्षण देखने में आए हैं. हालांकि कांग्रेस ने इसे गांधी परिवार को पीड़िता के गांव में घुसने से रोकने की ‘रणनीति’ करार दिया है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button