पुलिस स्टेशन इंचार्ज अशफाक खान ने पेश की भाईचारे की शानदार मिसाल

झाबुआ: देशव्यापी लॉकडाउन की वहज से भारत के विभिन्न राज्यों के नागरिक एक दूसरे के वहां फंस गए हैं. राज्य सरकारों ने ऐसे लोगों के लिए शेल्टर होम बनवाए हैं. इन शेल्टर होम्स में लोगों के रहने और खाने की व्यवस्था की गई है.

कोरोना वायरस के चलते मध्य प्रदेश में भी अब तक 8 मौते हो चुकी हैं, जबकि राज्य 98 लोग इस वायरस से संक्रमित हैं. मध्य प्रदेश में इंदौर शहर कोरोना वायरस के संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित है.

ऐसे में आज यानी 2 अप्रैल को रामनवमी (भगवान राम का जन्मदिन) के साथ ही चैत्र नवरात्रि का अंतिम दिन मध्य प्रदेश झाबुआ से इंसानियत और भाईचारे की मिसाल पेश करते हुए पुलिस स्टेशन इंचार्ज अशफाक खान ने झाबुआ में शेल्टर होम ठहरे गौरव सिंह के लिए अपने घर से फलाहार बनवा कर मंगाया और लेकर शेल्टर होम पहुंचे.

नवरात्रि का उपवास रखने वाले गौरव सिंह ने अशफाक खान का लाया हुआ फलाहार खाया. बता दें काली देवी थाना क्षेत्र में बनाए गए इस शेल्टर होम में 20 से अधिक लोग रह रहे हैं. इसी शेल्टर होम में राजस्थान के धौलपुर निवासी गौरव सिंह भी रह रहे हैं. उनका नवरात्रि का उपवास था.

शेल्टर होम का निरीक्षण करने पहुंचे स्थानीय थाना प्रभारी को जब इसके बारे में पता चला तो उन्होंने भाईचारे और साम्प्रदायिक सौहार्द की शानदार मिसाल पेश की.

Tags
Back to top button