छत्तीसगढ़

रायगढ़ में ट्रेन रुकवा कर पुलिस ने ली तलाशी

बिलासपुर: बिलासपुर के तारबाहर इलाके में हुई बड़ी चोरी के मामले में बिलासपुर पुलिस टीम को महत्वपूर्ण सुराग मिला है। चोरी में शामिल गिरोह के 5 सदस्यों को बिलासपुर से हावड़ा की ओर जाने वाली ट्रेन में जाने की सूचना पर रायगढ़ क्राइम ब्रांच ने जीआरपी व आरपीएफ पुलिस टीम ने बीती रात सघन जांच अभियान चलाया।

टीम ने बिलासपुर के बड़े पुलिस अधिकारियों के निर्देश पर मुम्बई से हावड़ा जाने वाली ज्ञानेश्वरी एक्सपे्रस को भी रायगढ़ स्टेशन पर रुकवाकर कर बोगियों की दस मिनट तक तलाशी ली। इसके बाद पुणे से हावड़ा जाने वाली आजाद हिन्द एक्सप्रेस की तलाशी लेकर क्राइम ब्रांच और जीआरपी की टीम झारसुगड़ा की ओर रवाना हुई।

पुलिस ने खंगाली एक -एक बोगी :
दरअसल 20 नवंबर की देर रात को तारबाहर से चोर गिरोह ने 5-6 लाख कीमती जेवरात चोरी कर ले गए। जेवर लेकर भागने वाले गिरोह के 5 सदस्य और उनका सरगना बिलासपुर ट्रेन से भागने के दौरान सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए। इसके बाद अंतिम बार उन्हें शनिवार को बिलासपुर स्टेशन में रुकी ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस ट्रेन में चढ़ते देखा गया था।

बिलासपुर के बड़े अधिकारियों ने तत्काल चांपा तथा रायगढ़ पुलिस के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए और देखते ही देखते क्राईम ब्रांच की टीम ने रायगढ़ स्टेशन पर नहीं रुकने वाली ज्ञानेश्वरी एक्सपे्रस को न केवल रूकवाया बल्कि 10 से 15 मिनट तक कई बोगियों में बैठे संदिग्ध लोगों की तलाशी की गई, लेकिन कड़ी मशक्कत के बाद भी उन्हें बिलासपुर से हावड़ा की ओर भाग रहे चोर नहीं मिले।

इसके बाद भी इस टीम ने हार नहीं मानी और एक विशेष टीम इसी गाड़ी में झारसुगड़ा भेजा गया। इसके अलावा आजाद हिंद रायगढ़ स्टेशन में करीब 3 मिनट तक रूकती है बावजूद इसके पुलिस टीम ने जीआरपी व आरपीएफ के साथ मिलकर जनरल बोगियों की तलाशी लेते हुए सोनों चांदी लेकर भाग रहे चोरों की तलाशी जारी रखी है और इस तलाशी अभियान को रायगढ़ से लेकर झारसुगड़ा तक जारी रखा।

साथ ही चोर गिरोह का संपर्क पश्चिम बंगाल गिरोह से जुडऩे की बात सामने आ रही है। वहीं बिलासपुर एएसपी नीरज चंद्राकर ने कहा कि मामले में आरोपियों की तलाश चल रही है। मामले में तथ्य आने के बाद ही आगे कुछ कहा जा सकता है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
रायगढ़ में ट्रेन रुकवा कर पुलिस ने ली तलाशी
Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.