बेशकीमती हीरो की चमक देखकर पुलिस भी रह गई दंग, पढ़िए क्या है पूरा मामला

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

महासमुंद – पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर द्वारा जिलें के समस्त थाना और चौकी प्रभारियों को संदिग्ध गतिविधियों, अवैध शराब, जुआ, सट्टा अवैध पादक पदार्थ आदि पर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया था। इसी दौरान 06 जनवरी को मुखबिर से सूचना मिली कि पिथौरा क्षेत्र के ग्राम टेका के पास एक व्यक्ति बहुमूल्य खनिज रत्न हीरा जैसे को रखा है एवं बिक्री करने हेतु ग्राहक तलाश कर रहा है।

सूचना को गंभीरता से लेते हुये। पुलिस अधीक्षक ने सायबर सेल महासमुन्द तथा थाना पिथौरा पुलिस की टीम को कार्यवाही करने निर्देशित किया जिस पर संयुक्त टीम के द्वारा मुखबिर के निशानदेही पर शिवा आईटीआई नेशनल हाईवें 53 के पास ग्राम टेका पहुचे जहाॅं एक संदिग्ध व्यक्ति पुलिस को देखकर भागने लगा जिसे दौड़ाकर पकड़ा, पूछताछ करने पर वह अपना नाम भारत भोई पिता पतिराम भोई उम्र 40 वर्ष निवासी टेका थाना पिथौरा, महासमुन्द का रहने वाला बताया। जिससे पूछताछ करने पर गोल मोल जवाब देता रहा।

उक्त संदिग्ध व्यक्ति की तलाशी लेने पर भारत भोई के पेंट के जेब से एक सफेद पोलिथीन में रखे निला रंग के प्लास्टिक पोलिथीन में गुलाबी रंग के कागज से लिपटा बहुमूल्य खनिज रत्न हीरा जैसे मिला। जिसके संबंध में कोई दस्तावेज नही होने पर उक्त बहुमूल्य खनिज रत्न हीरा जैसा 400 नग वजनी 09.560 ग्राम कीमति करीबन 10,00,000/- रुपए को जप्त किया गया।

महासमुन्द जिले में पूर्व में भी हीरा तस्करी की कार्यवाही की जा चुकी है। इतनी बड़ी तादात में हीरा जप्त कर प्रथम बार महासमुन्द जिले में कार्यवाही की गयी है। इस प्रकार का हीरा गरियाबंद जिले के देवभोग क्षेत्र के पायलीखण्ड खदान से उत्खनन किया जाता है जिसे चोरी कर लोगों द्वारा बेचा जाता है। जिसकी मुम्बई व सूरत के मार्केट में बहुत डिमाॅड होती है और इसे तराशने के बाद इसकी कीमत और भी कई गुना कीमत बढ जाती है। आरोपी के विरूध्द थाना पिथौरा में धारा 41, 379 भादवि के तहत् कार्यवाही की गई है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button