पुलिस सामने मारपीट मूकदर्शक बनकर देखती रही पुलिस

- प्रकाश यादव

कसडोल: यह मामला गिधौरी थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम नरधा की है जहाँ पुलिस द्वारा दहेज का सामान लेने के लिए मड़वा निवासी लड़की पक्ष को आरोपी का घर नरधा बुलाया जिसपर मड़वा निवासी अपने दहेज का सामान लेने के लिए नरधा पहुँचे जहाँ आरोपी लोग अपने घर में घुसकर पुलिस के सामने मड़वा निवासी योगराम रात्रे और उसकी पत्नी एवं बेटी के ऊपर जानलेवा हमला कर दिया।

यह घटना 2 वर्ष पूर्व की है जिसमे मड़वा निवासी योगराम रात्रे की बेटी की शादी नरधा निवासी रतन मधुकर के पुत्र रितेश मधुकर के साथ हुआ था जिसमें रितेश ने अपनी पत्नी उदिता के साथ मारपीट कर चारपहिया वाहन की मांग करता था जिसकी शिकायत को लेकर पिता योगराम रात्रे ने गिधौरी थाना में दहेज प्रताड़ना का शिकायत किया गया था जिसमें आरोपीगण शिकायत के बाद अपना जमानत करके खुलेआम घूम रहे थे ।

यह घटना तब घटी जब दिनांक 17-03-2019 रविवार को जब पुलिस सहायक उप निरीक्षक पी. आर. रावटे अपने आरक्षकों के साथ आरोपी के घर नरधा पहुँचकर मड़वा निवासी योगराम रात्रे को फोन लगाकर बोले कि अपने बेटी और पत्नी के साथ नरधा पहुँचो और अपने दहेज के सामान को सुनिश्चित अपने घर ले जाओ योगराम अपने परिवार के साथ नरधा पहुँचकर पुलिस के साथ कमरा अंदर घुसे तभी आरोपी लोग डंडा एवं राड से योगराम के परिवार पर ताबड़तोड़ हमला कर दिये जहाँ पुलिस वाले खड़े होकर तमाशा देख रहे थे।

इस मारपीट में उदिता के माता कुसुम रात्रे की सिर में गंभीर चोट आयी और पिता योगराम के कंधे में चोट आया इसी बीच उदिता की हाथ भी फ्रैक्चर हो गया जिसमें आरोपी रितेश मधुकर पिता रतनलाल मधुकर दोनों मारने के बाद फरार हो गए। जिसमे सहायक उप निरीक्षक रावटे का कहना है कि आरोपी के पक्ष और मड़वा निवासी लोगों के बीच थोड़ा बहुत हाथापाई हुआ जिसपर आरोपियों के ऊपर धारा 294, 323, 506 और 34 के तहत न्यायालय के समक्ष पेश किया गया।

Back to top button