छत्तीसगढ़

पुलिस विभाग में आरक्षक की नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगारों से धोखाधड़ी करने वाला चढ़ा पुलिस के हत्थे

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

बिलासपुर/- बेरोजगारों को नौकरी लगवा देने के नाम पर ठगी करने वाले आरोपी को पकड़ने में पुलिस को सफलता प्राप्त हुई है, मामले में मिली जानकारी के मुताबिक प्रार्थी द्वारा अगस्त 2020 में थाना पहुँच शिकायत दर्ज कराई थी कि आरोपी कमल सोनवानी द्वारा पुलिस आरक्षक की नौकरी लगाने का झांसा देकर उससे 03 लाख रुपये देने की बात किया है,वही इतना ही नही शातिर आरोपी ने कहा कि वह सीधा नौकरी लगाने के नाम से पैसा नही ले सकता इसी वजह से 50 रुपये के स्टाम्प पेपर में घरेलू खर्च के लिये पैसा लेना बताकर इकरार नामा लिखवाया ओर बाकायदा उसपर नोटरी भी करवाया,पर समय बीतता गया पर प्रार्थी को नौकरी नही मिली…

प्रार्थी ने बताया कि जब भी आरोपी से पैसे की मांग करता था तो वह टालमटोल करता था वही कुछ समय पश्चात उसने चेक दे दिया,वही उसके बाद प्रार्थी गोलू कैवर्त ने जब उक्त चेक को बैंक में जमा किया तो खाते में पैसे नही होने के चलते चेक बाउंस हो गया,

जिसके बाद यह भी जानकारी मिली कि आरोपी ने पचपेड़ी निवासी ईश्वर प्रसाद महिलांगे,नेवारी निवासी गोपी डहरिया,हरि शंकर डहरिया,महेंद्र कुमार लशकर समेत कुल आठ लोगों से 16 लाख रुपये की ठगी की,

जिसके बाद इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल के निर्देश में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजय ध्रुव, व नगर पुलिस अधीक्षक सुनील डेविड के मार्गदर्शन में पचपेड़ी ओर मल्हार पुलिस की विशेष टीम गठित कर शनिवार को घेराबन्दी कर गिरफ्तार किया गया,वही आरोपी के पास से एक मोबाइल और पांच कंपनियों ले अलग अलग सिम भी जप्त कर आगे की कार्यवाही की गई.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button