क्रिकेटखेल

BCCI ने लिया फैसला, अब बाउंड्री पर बॉल नहीं उठाएंगे दिव्यांग

नई दिल्लीः क्रिकेट मैच के दाैरान हमेशा बाउंड्री पर गेंद पकड़ने वाले पोलिया से प्रभावित धर्मवीर पाल को लेकर भारतीय क्रिकेट बोर्ड(बीसीसीआई) ने बड़ा फैसला लिया। बीसीसीआई ने फैसला लिया कि वह अब मैच के दाैरान बाउंड्री पर गेंद नहीं उठाएंगे। उन्होंने यह फैसला सोशल मीडिया पर हुई आलोचनाओं के बाद लिया।

क्यों हुई थी आलोचना?
सोशल मीडिया में इस बात की कड़ी आलोचना हो रही थी कि एक पोलियो से प्रभावित व्यक्ति से गेंद उठाकर लाने काम लिया जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया के साथ समाप्त हुई वनडे सीरीज के बाद बीसीसीआई को टैग करके यह सवाल उठने लगे थे कि एक फिजिकली चैलेंज्ड लड़के को बॉल ब्वाय क्यों रखा गया है। सोशल मीडिया पर यह भी लिखा गया कि आपने पोलियो से प्रभावित एक व्यक्ति को सीमा पर क्यों खड़ा किया हुआ है? लिहाजा इंडियन क्रिकेट बोर्ड ने एक सर्कुलर भेज कर यह साफ कर दिया है कि अब धर्मवीर को बॉल ब्वॉय के रूप में इस्तेमाल न किया जाए।

स्टैंड्स में बैठकर देख सकता है मैच
हालांकि बोर्ड ने यह कहा है कि धर्मवीर स्टैंड्स में बैठकर पूरा मैच देख सकते हैं। साथ ही बीसीसीआई ने अपनी सभी स्टेज एसोसिएशनों को एक सर्कुलर जारी कर कहा है कि बॉल-बॉय के रूप में ऐसे व्यक्ति का उपयोग ना करें।

धर्मवीर मध्य प्रदेश के मुरैना जिले के रहने वाले हैं। जब वह केवल 8 माह के थे तब वह पोलियो के प्रभाव में आए। 2013 में सचिन तेंदुलकर के फेयरवेल टेस्ट भी वह बाउंड्री पर मौजूद थे। धर्मवीर टीम इंडिया को सपोर्ट करने के लिए ऑस्ट्रेलिया, वेस्ट इंडीज, श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान और बांग्लादेश भी जा चुके हैं। वह फिजिकल चैलेंज्ड के लिए ऑल इंडिया क्रिकेट एसोसिशन द्वारा आयोजित टूर्नामेंट में अपने गृह राज्य की टीम के कप्तान भी रहे हैं।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *