चिटफंड पर राजनीतिक चीटिंग कर रहे हैं, विज्ञापन देकर वाहवाही न लूटे भूपेश बघेल – भाजपा

मुख्यमंत्री के ट्वीट पर नेता प्रतिपक्ष कौशिक का पलटवार

रायपुर: छत्तीसगढ़ विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के ट्वीट पर पलटवार करते हुए कहा है कि बघेल जी चिटफंड के नाम पर राजनीतिक चीटिंग कर रहे हैं। भाजपा की केंद्र सरकार चिटफंड कंपनियों के खिलाफ सख्ती बरतते हुए जनता का पैसा उसे वापस दिलाने की दिशा में प्रयास कर रही है। केंद्र सरकार की पहल पर हो रहे जन हितेषी कदम का झूठा श्रेय लेने के लिए भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में विज्ञापन तक दे डाले।

छत्तीसगढ़ में भाजपा शासनकाल में लागू जनहित की योजनाओं पर श्रेय लूटने की राजनीति के साथ ही बघेल गरीब आदिवासियों के नमक- चना जैसी योजनाओं पर भी कुठाराघात कर रहे हैं और हालत यह है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद से ही गरीब आदिवासी चावल चना नमक के लिए तरस रहे हैं। शराब, रेत और सीमेंट के जरिए चुनावी चंदा बटोरने वाले कांग्रेसी झूठ फरेब की राजनीति का कीर्तिमान स्थापित कर रहे और मुख्यमंत्री बघेल तो इस मामले में अपने राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से भी आगे निकल गए हैं।

कौशिक ने कहा कि भाजपा राज में हुए विकास कार्यों पर भूपेश सरकार अपना ठप्पा लगाना चाहती है और केंद्र की हर पहल पर अपना नाम लिखवाना चाहती है। यही कारण है कि जैसे ही केंद्र सरकार ने चिटफंड कंपनियों पर सख्ती बरतने के साथ ही पीडि़त लोगों को राहत देने के लिए कदम उठाएं, वैसे ही छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल ने इस मामले में विज्ञापन देकर यह साबित करने की कोशिश की कि वह चिटफंड कंपनियों में डूबा जनता का धन वापस दिलाएंगे।

जबकि असल स्थिति यह है कि सत्ता में आते ही भूपेश बघेल और उनकी मंडली ने छत्तीसगढ़ की जनता को तरह – तरह से लूटने का काम तेजी से शुरू कर दिया है और विकास के सारे काम ठप करने के साथ ही राज्य को आर्थिक दिवालियापन की स्थिति में ला दिया है। कानून व्यवस्था की स्थिति यह है कि विकास का गढ़ कहलाने वाला छत्तीसगढ़ अपराध गढ़ के रूप में सामने आ रहा है।

कौशिक ने कहा कि जनता से झूठे वादे करके कांग्रेस एक बार सत्ता में आ गई है लेकिन जनता के सामने अब उसका असली चेहरा आ चुका है। इसलिए कांग्रेस ने जो भ्रम पैदा किया था, वह छंट चुका है ।आने वाले समय में कांग्रेस को जनता से किए गए दोगलेपन की सजा अवश्य मिलेगी।

Back to top button