युवा बेरोजगार सम्मलेन के पहले राजनांदगांव में राजनैतिक साजिश : सुब्रत डे

पार्टी अध्यक्ष व कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी पर उठाए सवाल

रायपुर :

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के राजनांदगाव जिला अध्यक्ष नवीन अग्रवाल एवं डोंगरगढ़ के प्रतिष्ठत व्यवसायी पूनम बिंदल

और अनिल अग्रवाल को तीन वर्ष पूर्व 9 सितम्बर 2015 के डोंगरगढ़ नगर पालिका परिषद के जनहित मुद्दे पर किए गए घेराव पर आज की गई गिरफ्तारी की निंदा की

और कहा कि कल रायपुर में आयोजित प्रदेश स्तरीय युवा बेरोजगार महासम्मेलन में मुख्यमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र राजनांदगाव से हजारों युवा शिक्षित बेरोजगारों के सम्मलित होने की सूचना पर शासन स्तर पर हड़कंप मचने के बाद मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के इशारे पर की गई गिरफ़्तारी प्रशासनिक आंतकवाद का परिणाम है।

सुब्रत डे ने कहा कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के संस्थापक अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी द्वारा राजनांदगाव विधानसभा से मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ शासकीय मशीनरी द्वारा व्यक्तिगत स्तर पर रंजिश कर रही है।

जबकि, उक्त डोंगरगढ़ नगर पालिका परिषद के जनहित मुद्दे पर घेराव पर तत्कालीन सीएमओ राजेन्द्र पात्रे के खिलाफ डोंगरगढ़ नगर पालिका परिषद ने निंदा प्रस्ताव भी लाया था। किन्तु आज तीन वर्ष बाद नवीन अग्रवाल एवं अन्य की धारा 147,353,427,186 के तहत गिरफ्तारी की गई जो कि निंदनीय व् आश्चर्यजनक है।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रवक्ता सुब्रत डे ने कहा कि अजीत जोगी द्वारा राजनांदगाव विधानसभा से मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह को राजनांदगाव में अपना तिलिस्म टूटता नजर आ रहा है, इसलिए उनके इशारे पर शासकीय तंत्र लगातार जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं पर दवाव बना रही है।

मुख्यमंत्री सत्तामद में चूर होकर यह भूल रहे हंै कि सत्ता के खिलाफ संघर्ष दुखी गरीब मजलूम ही करता है और ऐसे तख्तों ताज उखाड़ फेंकता है।

Back to top button