तूतीकोरन हिंसा में राजनीतिक दल,एनजीओ,आसमाजिक तत्व कारण: ईके पलानास्वामी

पुलिसकर्मियों का पक्ष लेते हुए कहा है कि अगर कोई किसी पर हमला करता है तो खुद को बचाने के लिए कोई कुछ भी करेगा

चेन्नई. तमिलनाडु के तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर यूनिट गौरतलब है कि प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की गोलीबारी का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है और चारों ओर से सरकार से यही सवाल पूछे जा रहे हैं कि आखिर पुलिस को फायरिंग के आदेश किसने दिये. 22 मई को हुई गोलीबारी में न सिर्फ मरने वालों की संख्या बढ़ी है, बल्कि करीब 70 लोग अभी भी गायल बताए जा रहे हैं, जिनका इलाज चल रहा है. हालांकि, घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है. के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिस की गोलीबारी में मरने वालों की संख्या 13 हो गई है.

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ने ईके पलानास्वामी ने पुलिसकर्मियों का पक्ष लेते हुए कहा है कि अगर कोई किसी पर हमला करता है तो खुद को बचाने के लिए कोई कुछ भी करेगा. पुलिस ने जो कुछ भी किया वह बचाव में की गई कार्रवाई थी. तमिलनाडु के सीएम ने कहा कि जो तूतीकोरन में जो कुछ भी हुआ वह राजनीतिक दलों, एनजीओ, कुछ आसमाजिक तत्वों की वजह से हुआ है जो विरोध को गलत रास्ते पर लेकर गए.

new jindal advt tree advt
Back to top button