गठबंधन की पहली बैठक के बाद राजनैतिक हलचल तेज

मनमोहन पात्रे

बिलासपुर।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ और बहुजन समाज पार्टी के बीच सोमवार को सीटों के बंटवारे को लेकर मगरपारा स्थित होटल सिल्वर ऑक में बैठक आयोजित हुई। गठबंधन के बाद दोनों पार्टी के बीच यह पहली बैठक थी, बैठक में बसपा से सांसद अशोक सिद्धार्थ और जकांछ से अमित जोगी मौजूद थे। इसमें दोनों पार्टी के कार्यकर्ता पूर्व विधायक, नेता और पदाधिकारी भी बड़ी संख्या में उपस्थित थे। बैठक में 55 और 35 सीटों का पूरा समीकरण तैयार किया गया।

लेकिन नामों की घोषणा नहीं हुई। जनता कांग्रेस के 55 और बीएसपी के 35 सीटों के प्रत्याशियों के नाम की घोषण मंगलवार को कर देगी। कौन सी पार्टी को कौन सी सीटें मिलेगी, उसका खाका आज तैयार किया जा रहा है। अजीत जोगी और मायावती की हरी झंडी मिलने के सूची जारी होगी। दोनों पार्टियों के नेताओं ने कहा कि मंगलवार को वे अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर देंगे।

पहला शक्ति प्रदर्शन बिलासपुर में

बहुजन समाज पार्टी और जोगी कांग्रेस के गठबंधन के बाद पहला शक्ति प्रदर्शन बिलासपुर में हुआ। 13 अक्टूबर को बिलासपुर में बसपा सुप्रीमो मायावती और जोगी कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी की संयुक्त सभा होगी। हालांकि कार्यक्रम को लेकर अभी किसी भी दल की तरफ से अधिकृत सूचना नहीं आई है। लेकिन सूत्रों के मुताबिक 13 अक्टूबर को बिलासपुर के रघुराज स्टेडियम में बसपा-जोगी कांग्रेस की एक संयुक्त आमसभा हो सकती है।

विस चुनाव के लिए इन सीटों पर होगा फैसला

पिछले चुनाव में बसपा जिन सीटों पर दूसरे और तीसरे नंबर आई, एेसी सीटों पर बसपा अपनी दावेदारी कर सकती है। बताया जाता है, जिस विधान सभा में बसपा को पांच हजार तक वोट मिले हैं, उनमें बसपा अपने प्रत्याशी उतार सकती है। नजर अनुसूचित जाति के सीटों पर भी है, लेकिन १० में से ९ पर भाजपा काबिज है।

हालांकि सीटों के बंटवारे में सबसे ज्यादा मुश्किलें जोगी कांग्रेस को हैं, क्योंकि बसपा की पसंदीदा कई सीटों पर जकांछ प्रत्याशियों का ऐलान हो चुका है। बिलासपुर जिले की बेलतरा, तखतपुर, मुंगेली, लोरमी सहित ऐसी कई ऐसी सीटें हैं, जहां जोगी कांग्रेस के उम्मीदवार पहले से घोषित किए जा चुके हैं। इस संबध में गठबंधन पार्टियों के नेताओं ने कहा कि मंगलवार को यह स्थिती भी साफ हो जाएगी।

Back to top button