राष्ट्रीय

पोप रोहिंग्‍या के मुद़दे पर करेंगे बात

पोप रोहिंग्‍या के मुद़दे पर करेंगे बात

पोप फ्रांसिस मुस्लिम बहुल देश बांग्लादेश की ऐतिहासिक यात्रा पर गुरुवार को बांग्‍लादेश पहुंचे। उनकी यात्रा के दौरान म्यामां के रोहिंग्या शरणार्थियों के मुद्दे प्रमुखता से उठने की संभावना है।

पोप का यहां भव्य स्वागत किया गया। 80 वर्षीय पोप म्यामां की यात्रा संपन्न कर एक विशेष विमान से तीन दिन की यात्रा पर बांग्लादेश पहुंचे हैं। म्यामां में उन्होंने संदेश दिया कि न्याय एवं मानवाधिकार शांति की आधारशिला हैं।

उन्होंने रोहिंग्या संकट की ओर इशारा करते हुए यह बात कही। राष्ट्रपति अब्दुल हामिद ने ढाका के हजरत शाहजलाल अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा पर पोप की अगवानी की। बांग्लादेश सशस्त्र बलों की एक टुकड़ी ने उन्हें ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया। पोप के लिए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है।

पोप ने रोहिंग्या लोगों के उत्पीड़न की निंदा की

रोहिंग्या संकट गहराने के बीच पोप की यह यात्रा हो रही है। पोप ने रोहिंग्या लोगों के उत्पीड़न की निंदा की है। हालांकि, म्यामां यात्रा के दौरान उन्होंने सार्वजनिक रूप से ‘रोहिंग्या’ शब्द का इस्तेमाल नहीं करने को प्राथमिकता दी।

इसे लेकर उन्हें आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है। वहीं, वेटिकन ने उनकी चुप्पी का बचाव करते हुए कहा कि पोप बौद्ध मतावलंबी बहुल देश के साथ संपर्क कायम करना चाहते हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.