पॉपुलर ऑनलाइन मोबाइल गेम PUBG खेलने पर हो सकती है जेल

ऑनलाइन मोबाइल गेम PUBG तेजी से पॉप्युलर हो रहा है और अब इसे बैन करने का दौर शुरू हो चुका है। हाल ही में इस मल्टीप्लेयर मोबाइल गेम ने एक साल पूरा किया है और साथ ही भारत में इसे बैन करने से जुड़ी मांग पर कई शहरों में कानूनी कदम उठाए गए हैं।

सबसे पहले राजकोट पुलिस की ओर से इसे बैन किया गया और इसके बाद कई शहरों ने ऐसे ही कदम उठाए हैं। राजकोट पुलिस कमिश्नर मनोज अग्रवाल का कहना है कि PUBG पर यह बैन 9 मार्च से लगाया गया है और फिलहाल 30 मार्च तक के लिए है।

PUBG मोबाइल गेम को बच्चों के लिए ‘अडिक्टिव’ और खतरनाक बताते हुए भावनगर और गिर सोमनाथ के कुछ इलाकों में भी बैन कर दिया गया है। दोनों ही जिलों के जिलाधिकारियों ने इस संदर्भ में आदेश जारी कर दिए हैं।

इस बैन के दौरान PUBG खेलने वाले किसी भी यूजर के खिलाफ पुलिस में शिकायत की जा सकेगी और जांच में दोषी पाए जाने पर आईपीसी की धारा 188 के तहत उसे जेल तक भेजा जा सकता है।

बता दें, धारा 188 तब लागू होती है जब कोई कानूनी संस्था द्वारा जारी किए गए निर्देश का उल्लंघन करता है। हालांकि, शुरुआत में कुछ शर्तों के साथ इसे लचीला रखा जाएगा।

Back to top button