बड़ी खबरराष्ट्रीय

पीपीएफ ब्याज दर 46 साल के नीचे जाने की आशंका, 7 फीसद से कम हो सकता है

आने वाले दिनों में निवेशकों को बड़ा झटका लग सकता है। सार्वजनिक भविष्य निधि (PF) पर मिलने वाला ब्याज घटकर 7 फीसद से नीचे जाने की आशंका बढ़ गई है, जो अभी 7.1 फीसद है। सरकार के बॉन्ड पर यील्ड यानी रिटर्न घटने से इसके संकेत मिल रहे हैं। यदि ऐसा होता है तो 46 साल में यह पहला मौका होगा होगा, जब पीपीएफ पर ब्याज 7 फीसद से भी नीचे आ जाएगा। इसके पहले 1974 में पीपीएफ पर ब्याज दर सात फीसद से कम थी। पीपीएफ समेत छोटी बचत पर भी ब्याज दर सरकार के बॉन्ड पर यील्ड से तय होती है।

अगले माह होना है दरों में बदलाव

पीपीएफ समेत डाकघर की छोटी जमाओं पर दरें वित्त मंत्रालय तिमाही आधार पर तय करता है। जुलाई-सितंबर तिमाही के लिए अगले हफ्ते दरें तय होनी हैं। बता दें अप्रैल में ब्‍याज दरों में तेज गिरावट से पीपीएफ की दर 7.9 फीसद से घटाकर 7.1 फीसद की गई थी। सीनियर सिटीजंस सेविंग्‍स स्‍कीम की दर 8.6 फीसद से घटकर 7.4 फीसद रह गई थी और नेशनल सेविंग्‍स सर्टिफिकेट (एनएससी) की दरें भी 7.9 फीसद से कम होकर 6.8 फीसद। वहीं सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट स्‍कीम की 8.4 फीसद से घटकर 6.9 फीसद रह गई थीं।

Tags
Back to top button