प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना : परपोड़ी से कुरलु, जानो-रानो से साल्हे मार्ग बनने से यातायात हुआ सुगम

किरीतपुर से चेटुवा पीएम सड़क बनने से राह हुआ आसान

बेमेतरा 16 सितम्बर 2021 : गांव की सामाजिक एवं आर्थिक उन्नति की कल्पना बिना अच्छी सड़कों के करना संभव नहीं है। इसलिए आवश्यक है कि प्रत्येक गांव को बारहमासी सड़कों से जोड़ा जाये। इसके लिए भारत सरकार ने 25 दिसम्बर 2000 को प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की शुरूआत की थी। इस योजना का प्रमुख उद्देश्य ग्रामीण इलाकों के सामान्य क्षेत्रों में 500 एवं 500 से अधिक तथा पहाड़ी क्षेत्रों में 250 एवं 250 से अधिक आबादी वाले समस्त बिना जुड़ी हुई बसाहटों को बारहमासी सड़कों से जोड़ने का प्रावधान है।

सड़कों के अभाव में एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाना बहुत मुश्किल हो जाता है। सड़के किसी भी देश के लिए जीवन रेखा होती है। इस योजना के अंतर्गत गांव, तालुका, जिले और बड़े शहरों को जोड़ते हुए सड़के बनाई जाती हैं तथा साथ ही सड़कों के गुणवत्ता को बनाये रखने के लिए विभिन्न स्तर पर सड़कों के जांच का प्रावधान भी किया गया है। जिसके लिए समय-समय पर राज्य गुणवत्ता समीक्षक एवं राष्ट्रीय गुणवत्ता समीक्षक द्वारा सड़कों की गुणवत्ता की जांच की जाती है। इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य देश के गांवों को शहरों से पक्की सड़कों द्वारा जोड़ना है। लोगों को आने जाने में कोई तकलीफ ना हो और उस क्षेत्र का विकास हो। सड़को के निर्माण से उस क्षेत्र में विकास की प्रबल संभावनाएं होती है। इस योजना का मुख्य लाभ ग्रामीण लोगों को होगा।

सह सदस्य सचिव परियोजना क्रियान्वयन 

कार्यपालन अभियंता सह सदस्य सचिव परियोजना क्रियान्वयन इकाई एस के साहू ने बताया कि जिला-बेमेतरा में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत वर्ष 2000 से 2013-14 तक कुल 149 सड़के लंबाई 615.967 किमी. पूर्ण की गई। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना-2 के अंतर्गत वर्ष 2017-18 में 6 सड़क लंबाई 56.45 किमी. स्वीकृत हुआ है। जिसमें सड़क की लंबाई 55.46 किमी. कार्य पूर्ण हो चुका है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना-3 के अंतर्गत वर्ष 2019-20 तथा 2020-21 में क्रमशः 13 व 08 सड़के स्वीकृत हुआ है। जिसकी लंबाई 91.24 व 57.20 किमी. है। जिसमें कार्य प्रगति पर है। प्रगतिरत कार्यो को अतिशीघ्र पूर्ण करा लिया जावेगा।

विकासखण्ड साजा के मार्ग परपोड़ी कुरलु जानो रानो से साल्हे लंबाई 6.30 किमी. की सड़क स्वीकृत है जिसमें आर. डी. 5400 मी. से 6300 मी. तक कुल 900 मी. में भूमि विवाद था जिसका निपटारा कर सड़क निर्माण कार्य किया गया है। पूर्व में इस मार्ग से आने जाने में ग्रामीणजनों को असुविधा होती थी। आवागमन की सुविधा के लिए वृहद पुल जानो से रानो आर. डी. 1000 मी. में निर्माणाधीन है। उक्त कार्य पूर्ण हो जाने से जानो, कुरलु एवं मुड़िया गांव के लगभग 3150 आबादी लाभांवित होंगे।

सड़क निर्माण कार्य

विकासखण्ड बेरला के मार्ग (एनएच 12 ए) किरीतपुर से चेटुआ, लंबाई 7 किमी. में बी. टी. कार्य पूर्ण करा लिया गया है। चेटुआ ग्राम के दर्शनीय स्थल में हर साल मेला का आयोजन ग्रामीणों द्वारा किया जाता है। यह सड़क ग्रामीणों को दर्शनीय स्थल तक पहुंचने के लिए अत्यन्त सुविधाजनक है। इस सड़क में वृहद पुल का कार्य भी प्रस्तावित किया गया है। सड़क निर्माण कार्य एवं वृहद पुल कार्य पूर्ण हो जाने से अछोली, चेटुवा एवं जमघट के लगभग 2500 आबादी लाभांवित हुए है। इन सड़कों के निर्माण से गांव के ग्रामीणों को आवागमन में सुविधा सहित स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार एवं कृषि उत्पादों के परिवहन की सुविधा भी उपलब्ध हो रही है।

इस योजना के आने से ग्रामीणजनों को सभी क्षेत्रों में अत्यधिक लाभ प्राप्त हो रहा है। जिसमें विद्यालय, चिकित्सालय, देवालय, दर्शनीय स्थल, विकासखण्ड एवं जिला मुख्यालय आदि आने-जाने के लिए सायकल, दुपहिया वाहन एवं बस से जिले के प्रत्येक क्षेत्र में आवागमन सुगम हो रहा है। इस योजना के संचालित होने से ग्रामीणों का चहुमुखी विकास संभव हो रहा है।

 

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button