प्रधान ने कहा, पेट्रोलियम उत्पादों को GST के तहत लाने की जरूरत

पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार को पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के तहत लाने की वकालत करते हुए कहा कि इससे आम लोगों को वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने की स्थिति में ईंधन कीमतों में वृद्धि से राहत मिलेगी.

उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों ने इस बारे में अपना विचार बनाना शुरू कर दिया है. जीएसटी को पिछले साल जुलाई में लागू किया गया है. फिलहाल पेट्रोलियम उत्पादों को इसके दायरे से बाहर रखा गया है.

प्रधान ने यहां संवाददाताओं से कहा , ‘सीरिया में तनाव और अमेरिका द्वारा ईरान पर नए प्रतिबंध लगाने की धमकी से अंतरराष्ट्रीय बाजार में पेट्रोलियम उत्पाद पिछले चार साल के सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंच गए हैं.’

मंत्री ने कहा, ‘भारत सरकार इसको लेकर चिंतित है… पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के तहत लाया जाना चाहिए, लेकिन चूंकि यह जीएसटी क्रियान्वयन का पहला साल है, राज्य इसको लेकर चिंतित हैं और अपनी आय को लेकर असमंजस में हैं.’

Back to top button