प्रज्ञा सिंह पर FIR दर्ज करने की मांग, थाना पहुंचे मंत्री भनोत

जबलपुर। भोपाल से भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के शहीद हेमंत करकरे के खिलाफ आपत्तिजनक बयान को लेकर वित्तमंत्री तरुण भनोत उन पर देशद्रोह का मामला दर्ज कराने शनिवार दोपहर लगभग पौने दो बजे गोरखपुर थाने पहुंचे। मंत्री भनोत ने यह भी कहा कि वह यहां मंत्री नहीं, आम आदमी के रूप में आए हैं।

साध्वी प्रज्ञा के बयान से उन्हें दुख हुआ है, वह किसी शहीद के बारे में ऐसी बात कैसे कह सकती हैं। यह कहकर वे थाने में जमीन पर बैठ गए। वे तकरीबन डेढ़ घंटे तक थाने में फर्श पर बैठे रहे इसके बाद उनका आवेदन लिया गया।

गोरखपुर टीआई उमेश तिवारी ने पहले मामले की जानकारी सीएसपी आलोक शर्मा को दी। इसके बाद वह मौके पर पहुंचे और समझाने की कोशिश की। लेकिन फिर भी बात नहीं बनी तो एएसपी संजीव उईके थाने पहुंचे।

उन्होंने मंत्री भनोत से बातचीत करते हुए उन्हें कार्रवाई का आश्वासन दिया। लेकिन वह एफआईआर के लिए ही कह रहे थे। इसके बाद एएसपी शहर संजीव उईके ने वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत कर स्थिति बताई। इस बीच मंत्री भनोत को थाने के मुख्य द्वार पर बैठे हुए लगभग डेढ़ घंटा हो गया था।

आवेदन भोपाल भेजने की बात पर हुए राजी

एएसपी शहर संजीव उईके ने मंत्री भनोत से बातचीत की, जिसमें बताया कि वह आवेदन दे दें। उस आवेदन के बारे में भोपाल के वरिष्ठ अधिकारियों से बातचीत हो गई है। आवेदन को भोपाल भिजवाया जा रहा है। जहां उस पर कार्रवाई की जाएगी। इस बात पर मंत्री भनोत ने हामी भरी और फिर आवेदन दिया।

इनका कहना है

वित्त मंत्री से आवेदन लेकर जांच की जा रही है। वहीं इस संबंध में भोपाल में भी वरिष्ठ अधिकारियों को जानकारी देकर आवेदन भिजवाया जा रहा है।
– संजीव उईके, एएसपी शहर

मैं आहत हूं

मैं वित्त मंत्री की हैसियत से नहीं बल्कि भारत माता के पुत्र की हैसियत से साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने पहुंचा था। जिस शहीद ने अपनी छाती पर गोलियां खाईं, जिसकी पत्नी ने मृत्यु के पहले अपना लिवर, किडनी दान कर दिया। उन शहीद हेमंत करकरे के खिलाफ इस तरह की अपमानजनक टिप्पणी से मैं आहत हो गया हूं। इस मामले में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने थाने पहुंचा। मैं यहां धरने पर नहीं बैठा, गर्मी के कारण फर्श पर बैठ गया था।

– तरुण भनोत, वित्त मंत्री

Back to top button