खेल

पैर छूकर वॉकओवर देने पर हुआ था विवाद, अब प्रवीण ने कहा- हरा सकता हूं सुशील को

पैर छूकर वॉकओवर देने पर हुआ था विवाद, अब प्रवीण ने कहा- हरा सकता हूं सुशील को

इंदौर में आयोजित नैशनल रेसलिंग चैंपियनशिप में सभी की निगाहें 3 साल बाद मैट पर वापसी करने वाले 2 बार के ओलिंपिक मेडलिस्ट सुशील कुमार पर थीं। पुरुषों की 74 किलोग्राम कैटिगरी के मुकाबले में सुशील को सबसे ज्यादा चुनौती प्रवीण राणा से मिलने की उम्मीद थी।

क्वॉर्टर फाइनल और सेमीफाइनल में मिले वॉकओवर के बाद फाइनल में सुशील को प्रवीण से ही भिड़ना था। एक रोमांचक मुकाबले की उम्मीद तब धरी की धरी रह गई जब प्रवीण ने सुशील को वॉकओवर दे दिया। इसके बाद इस मुकाबले पर कई तरह के सवाल उठने लगे। प्रवीण ने ‘नवभारत टाइम्स’ को बताया कि दरअसल पूरी तरह फिट नहीं होने की वजह से उन्होंने सुशील के खिलाफ नहीं लड़ने का फैसला किया था।

प्रवीण ने बताया कि पहले बाउट के दौरान ही उनकी एक पुरानी चोट उभर गई थी। इसके बाद वह बहुत मुश्किल से फाइनल तक पहुंचे थे। चोट कहीं बढ़ ना जाए, इसलिए उन्होंने फाइनल में नहीं खेलने का फैसला किया था। बकौल राणा, ‘अगले महीने कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप होनी है। अगले साल कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स भी होने हैं। इन अहम मुकाबलों को ध्यान में रखते हुए मैं किसी तरह का जोखिम नहीं लेना चाहता था। यही वजह है कि मैंने इंदौर में उन्हें फाइनल में बाय दे दिया था। लेकिन हां, साउथ अफ्रीका में अगले महीने कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में हम दोनों एक बार फिर आमने-सामने हो सकते हैं। वहां दुनिया भर के दिग्गज पहलवान होंगे। चाहे पहला बाउट हो या फाइनल, मैं उनसे जरूर लड़ूंगा और मुझे उम्मीद है कि पटकने में भी कामयाब रहूंगा।’

फाइनल में प्रवीण मैट पर से सुशील का पैर छूकर उतर गए थे। इसको लेकर उनकी काफी आलोचना हो रही है। हालांकि राणा ने कहा, ‘सुशील काफी सम्मानित पहलवान हैं। उन्होंने रेसलिंग में देश का नाम काफी ऊंचा किया है। मैं क्या, देश भर के सभी पहलवान उनका सम्मान करते हैं। मैं भी उनका सम्मान करता हूं और यही वजह है कि मैंने फाइनल के दौरान उनके पैर छुआ था।’

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button