गर्भवती महिलाओं को भूल कर भी नहीं करने चाहिए चंद्र ग्रहण के दौरान ये काम

ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को अपनी सेहत और खान-पान का खास ध्यान रहना चाहिए।

इस सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण 27 जुलाई यानी की आज लगने वाले है। चंद्र ग्रहण के दौरान सूतक लग जाता है इस समय कई काम करने के लिए मना किया जाता है।

ग्रहण के समय गर्भवती महिलाओं को अपनी सेहत और खान-पान का खास ध्यान रहना चाहिए। ग्रहण के दौरान दूषित तिरंगे गर्भ में पल रहे बच्चों पर बुरा असर डालती हैं। कुछ लोगों का मनना है कि चंद्र ग्रहण यदि महिलाएं घर से बाहर निकलती है तो इसका असर बच्चे पर पड़ता है। बच्चे को हेल्दी रखने के लिए जरूरी है चंद्र ग्रहण में कुछ बातों का ध्यान जरूर रखें।

1. नहाएं

गर्भवती महिलाओं को ग्रहण लगने के बाद नहीं नहाना चाहिए। इसके अलावा जब ग्रहण खत्म हो जाए तो उसके बाद एक बार जरूर नहा लें। एेसा करने से ग्रहण के दौरान निकली हुई दूषित तिरंगों का असर आप पर नहीं होगा।

2. कुछ भी न खाएं

कुछ लोगों का कहना है कि ग्रहण के दौरान कुछ भी खाना-पीना नहीं चाहिए। क्योंकि ग्रहण के दौरान जो तिरंगे निकलती है वह खाने को अशुद्ध कर देती हैं। दुषित खाने से बच्चे और मां दोनों को नुकसान होता है। अगर बने हुए खाने को फेंकना नहीं चाहते तो ग्रहण लगने से पहले उसमें तुलसी के पत्ते डाल दें। ग्रहण खत्म होने के बाद उसे निकाल दें। इससे खाना शुद्ध रहेगा और उसे फैंकने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

3. नुकीली चीजें

ग्रहण लगने के दौरान प्रेग्नेंट महिलाओं को किसी भी नुकीली चीज जैसे चाकु, कैंसर, सूई और पैन आदि इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

4. बाहर न जाएं

चंद्र ग्रहण के दौरान घर से बाहर ना निकलें। इस अवस्था में घर से बाहर जाने पर बुरा असर पड़ता है, जो बच्चे के जन्म के बाद शरीर में दिखाई देने लगते हैं।<&gt

Back to top button