कांग्रेस कर रही PM और रक्षामंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाने की तैयारी

कांग्रेस पार्टी राफेल डील के मुद्दे पर केंद्र सरकार को छोड़ने के लिए तैयार नहीं है और आने वाले समय में पार्टी की तरफ से सरकार पर और तीखे हमले होंगे. कांग्रेस पार्टी ने कहा है कि वो राफेल मुद्दे पर रक्षा मंत्री और प्रधानमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस लाएगी.

हालांकि पार्टी के अंदर ही कुछ लोगों का कहना है कि प्रधानमंत्री के खिलाफ प्रस्ताव नहीं लाना चाहिए. यदि उन लोगों की बात मानी गई तो फिर सिर्फ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के खिलाफ ही ये प्रस्ताव आएगा.

कांग्रेस पार्टी का आरोप है कि रक्षा मंत्री ने यह कहकर लोकसभा को गुमराह किया कि राफेल जेट की कीमत का खुलासा नहीं किया जा सकता है. कांग्रेस पार्टी ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस कारण वो रक्षा मंत्री के खिलाफ लोकसभा में विशेषाधिकार हनन का नोटिस लाएगी.

पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी ने कहा, ‘रक्षा समझौते में ऐसा कुछ नहीं है, जिसके आधार पर कीमतों को नहीं बताया जा सकता. मैं खुद कई सौदों की कीमत बताई है और इसमें फ्रांसीसी मिराज एयरक्राफ्ट भी शामिल है.

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा ने कहा कि चूंकि ये लोकसभा का मामला है, इसलिए वहां पार्टी के सदस्य उचित निर्णय लेंगे. एंटनी ने कहा कि संविधान भी कहता है कि कीमतें सीएजी और लोक लेखा समिति के समाने उजागर करनी होंगी.

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि पार्टी इस बारे में विशेषाधिकार हनन का नोटिस लाएगी, हालांकि अभी ये निर्णय बाकी है कि इसे केवल रक्षा मंत्री के खिलाफ लाया जाए या फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ भी इसे लाया जाए.

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान राफेल डील के मुद्दे को जोरशोर से उठाया था. उन्होंने प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री पर राफेल डील को लेकर सदन से झूठ बोलने का आरोप लगाया था.

Back to top button