वर्तमान में कमीशन की कालिख पोतकर, भविष्य में झूठे सपनों का झूठा हवामहल रच रहे है अमन-रमन: विकास तिवारी

जनता मूलभूत सुविधाओं के लिये तरस रही

रायपुर : छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने नया रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष और मुख्यमंत्री के मुख्य सचिव अमन कुमार सिंह द्वारा नई दिल्ली में आयोजित इनोवेशन समिट में कहे गये नये रायपुर के गुणगान को ‘‘थोथा चना बाजे घना’’ की संज्ञा दी है। प्रवक्ता ने कहा कि अमन सिंह सरकार के प्रवक्ता कम भाजपा के वक्ता ज्यादा प्रतीत हो रहे थे, उनके द्वारा दिल्ली समिट में कहा गया कि नया रायपुर दूरगामी सोच व कुशल नेतृत्व का परिणाम है।

वह नया रायपुर जिस सजाने-संवारने में रमन सरकार ने पूरे 14 साल लगा दिये, अरबों रूपयांें की राशि पानी की तरह बहाया गया और इसके बावजूद भी नये राजधानी में केवल कुछ हजार लोग ही निवास कर रहे है जिसमें मंत्रालय एवं सरकारी विभाग के कर्मचारियों की संख्या ज्यादा है, वो भी मजबूरन निवासरत है। आज नया रायपुर के बसाहट में सुरक्षा का अभाव है, कर्मचारियों के लिये बनाये गये कालोनियों में बिजली, पानी का अभाव बना हुआ है, अस्पताल का अभाव है, मूलभूत सुविधाओं के लिये आज भी नये रायपुर के निवासियों को रायपुर आना पड़ता है। रोजगार के लिये नये राजधानी के रमन सरकार की ओर से कोई भी पहल नहीं की गयी है। युवाओं को रोजाना 20 कि.मी. रायपुर राजधानी आना पड़ता है।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन सिंह ने नये रायपुर का झूठा बखान किया है। उनके द्वारा कहा गया है कि जंगल-सफारी को सबसे बड़ा मानव निर्मित जंगल कहा पर इसी जंगल में रमन सरकार के मंत्री, अधिकारी कमीशनखोरी का मंगल मनाये हैं, करोड़ों रूपयों का भ्रष्टाचार किया गया है और जंगल-सफारी में आज भी सुविधाओं की कमी बनी हुई है। सरकार द्वारा नया रायपुर के लिये लगभग 8000 हेक्टेयर, किसानों से अधिग्रहित किया गया था, जिन्हें मुआवजे के नाम पर धोखा किया गया, औने-पौने दाम पर किसानों की जमीने अधिग्रहित करके बड़े औद्योगिक घरानों को बांटा गया, सुरक्षा अभाव के कारण नया रायपुर में छेड़खानी, बलात्कार की घटनायें बढ़ी है, जघन्य हत्या हो रही है और रोजाना सड़क दुर्घटनाओं में लोगों की जाने तक जा रही है।

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री के मुख्य सचिव अमन सिंह ने दिल्ली समिट में अपना नंबर बढ़ाने के लिये झूठ के पुलिंदे का बखान किया है, राजधानी रायपुर जहां की संख्या 15 लाख से भी ज्यादा है वहां की जनता मूलभूत सुविधाओं के लिये तरस रही है, प्रदूषण के नाम पर विश्व पटल पर स्थान बनाया है और अमन सिंह आज की बदहाली को छोड़कर 21वीं सदी की बातें कर रहे है। भविष्य के बात कर रहे हैं। यह तो आज की बर्बादी के सच को नकारते हुये भविष्य के झूठे सुनहरे सपना हवामहल बना कर जनता और मीडिया को दिग्भ्रमित करने का षड़यंत्र है।

advt
Back to top button