राष्ट्रीय

राष्ट्रपति कोविंद के बेटा-बेटी हैं एयरलाइंस में, बहू है टीचिंग प्रोफेशन में

देश के नए महामहिम के परिवार की बात करें तो कानपुर देहात में जन्में कोविंद (71) की पत्नी सविता हाउस वाइफ हैं. इनके 2 बच्चे बेटी स्वाति और बेटा प्रशांत हैं.

उनके दोनों बच्चें एयरलाइंस में जॉब करते हैं. करीब 20 साल पहले प्रशांत की शादी गौरी से हुई थी. गौरी पेशे से टीचर हैं. प्रशांत और गौरी की के 2 बच्चे हैं. इन दोनों की शादी में खुद नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए थे.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति उम्मीदवार घोषित होने के बाद पीएम मोदी ने कोविंद के बेटे प्रशांत की शादी की फोटो शेयर की थी. प्रशांत की लव मैरिज थी. शादी परिवार की मर्जी से हुई थी.

राष्ट्रपति कोविंद की पत्नी सविता हाउसवाइफ है. उनके पिता स्व. मैकूलाल परचून की दुकान चलाते थे. वहीं, उनकी मां स्व. फूलवती भी हाउस वाइफ थी. कोविंद कुल सात भाई बहन हैं, जिनमें वह सबसे छोटे हैं.

1978 में रामनाथ सु्प्रीम कोर्ट में वकील के तौर पर अप्वाइंट हुए. 1980 से 1993 के बीच उच्चतम न्यायालय में केंद्र की स्टैंडिंग काउंसिल में भी रहे. 1977 में तब पीएम रहे मोरारजी देसाई के पर्सनल सेक्रेटरी बने थे.

कोविंद बीजेपी का एक मजबूत दलित चेहरा है. वह दलित बीजेपी मोर्चा के अध्यक्ष रहे. वह ऑल इंडिया कोली समाज के प्रेसिडेंट हैं. इसके अलावा वह बीजेपी के नेशनल स्पोक्सपर्सन रह चुके हैं.

कोविंद ने दो बार चुनाव भी लड़ा लेकिन दोनों ही बार वह हार गए थे. 1990 में घाटमपुर से एमपी का इलेक्शन लड़े, लेकिन हार गए. इसके बाद वे 2007 में यूपी की भोगनीपुर सीट से चुनाव लड़े, पर ये चुनाव भी वे हार गए.

हालांकि, कोविंद 1994 से 2000 तक और उसके बाद 2000 से 2006 तक राज्यसभा सदस्य रहे थे. अगस्त 2015 में बिहार के गवर्नर अप्वाइंट किया गया था.

राष्ट्रपति चुनाव में कोविंद को यूपीए उम्मीदवार मीरा कुमार से करीब दोगुने वोट मिले थे. रामनाथ कोविंद को कुल वोट 10,98903 में से 702044 मिले हैं जबकि मीरा कुमार को 367314 वोट मिले.

राष्ट्रपति बनने के लिए कोविंद को 5,52,243 वोट चाहिए थे. कई राज्यों में क्रॉस वोटिंग के कारण कोविंद की जीत का आंकड़ा बढ़ गया.

Tags
Back to top button