राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने संसद में दाखिल किया नामांकन, PM मोदी-आडवाणी रहे गवाह

लोकसभा सचिवालय के मुताबिक रामनाथ कोविंद एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में दोपहर 11:45 संसद भवन में नामांकन पत्र दाखिल किया। गौरतलब है कि 17 जुलाई को राष्ट्रपति पद का चुनाव होना है। चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद की जीत पक्की मानी जा रही है। राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए की ओर से चुने गए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद आज अपना नामांकन पत्र दाखिल करने पहुचे. उनके साथ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी भी संसद भवन पहुंच गए हैं। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक संसद की लाइब्रेरी में एनडीए की बैठक होने वाली है। सूत्रों के अनुसार इस दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा बीजेपी शासित राज्यों के सीएम भी मौजूद रहे.
भाजपा में कई बड़े पदों पर रहे रामनाथ कोविंद की गिनती लो प्रोफाइल चेहरों के रूप में होती रही है जो चुपचाप पर्दे के पीछे रहकर तन्मयता से अपना काम करते रहे। लेकिन एकाएक राष्ट्रपति पद के लिए उनका नाम सामने आने से अब उनको लेकर तमाम सवाल और जिज्ञासाएं खड़ी हो गई हैं।
दिग्गजों का जमावड़ा
कोविंद के नामांकन के लिए बीजेपी दिग्गजों का जमावड़ा संसद भवन में रहा. अभी तक प्रकाश सिंह बादल, रामविलास पासवान, मेनका गांधी, जनरल वी. के. सिंह, मुख्तार अब्बास नकवी, कैलाश विजयवर्गीय, थावरचंद गहलोत, शिवराज सिंह चौहान, संसद भवन पहुंच गए हैं. इसके अलावा गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह भी पहुंच गए हैं.

राष्ट्रपति चुनाव में जदयू के झटके के बाद कांग्रेस की अगुवाई में विपक्ष ने राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के खिलाफ पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार को उतारने की घोषणा की है। इतिहास में पहली बार राष्ट्रपति पद के लिए दलित बनाम दलित में मुकाबला होगा।

वहीं विपक्ष ने मीरा कुमार के जरिए पाला बदल कर राजग उम्मीदवार के पक्ष में आने वाले जदयू के लिए असहज स्थिति पैदा कर दी है, वहीं दलित उम्मीदवार की शर्त रखने वाली बसपा प्रमुख मायावती की इच्छा भी पूरी कर दी।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में कल 17 दलों की बैठक के दौरान तीन नामों पर चर्चा हुई। एनसीपी नेता शरद पवार ने मीरा कुमार के अलावा पूर्व गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे और राज्यसभा सांसद बालचंद्र मंगेकर के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसमें मीरा कुमार पर आमराय बन गई।

Back to top button