पर्यावरण प्रेमियों ने की मिसाल पेश, बनीं दुसरों के लिए प्रेरणा

बालोद

पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण के लिए कई कवायदें चल रही हैं। क्षेत्र में कई स्थान ऐसे भी हैं जहां पेड़-पौधों को पूरी तरह सुरक्षित रखकर उनकी देखभाल की जा रही है।

हरे-भरे पेड़ों की कटाई न हो इसके लिए इन स्थानो पर पेड़ों से होने वाली परेशनियों को नजरअंदाज करते हुए भी पेड़ों को सुरक्षित रखा गया। इन स्थानों पर लगे पेड़ों का दिनोंदिन कद बढ़ता गया और यह वर्षों पुराने हो गए। इनके तने मजबूर और शाखाएं छत नापने लगी हैं।

ऐसे में पर्यावरण प्रेमियों ने पेड़ों के आसपास छत डलावकर उनका ऊपरी छोर आसमान में खुला छोड दिया है। आज हम आपको नगर की कुछ ऐसी ही तस्वीरों से रूबरू करवाने जा रहे हैं जो पर्यावरण प्रेम को नि:शब्द होकर दशार्ते हैं।

गंज पारा स्थित धान मंडी में एक विशाल आम का झाड़ है और इस आम के झाड़ के नीचे यहां काम करने वाले लोग आराम करते बताते हैं कि जब इस मंडी प्रांगण में टिन शेड लग रहा था तब आम के पेड़ बाधक बन गई थी और इसे कटवाने की योजना बन गई थी ।

तब पर्यावरण प्रेमियों और इस पेड़ के नीचे काम करने वाले लोगों ने इसे कटने से रोक दिया था आज यही पेड़ हर किसी को छाव दे रहा हैं।

Back to top button