अंतर्राष्ट्रीयराष्ट्रीय

ब्रिक्स देशों के 12वें शिखर सम्मेलन में आज शामिल होंगे प्रधानमंत्री मोदी

ब्रिक्स देशों में ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका शामिल

नई दिल्ली: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के निमंत्रण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। इस शिखर सम्मेलन का आयोजन वर्चुअल माध्यम से 17 नवंबर को किया जाएगा।

मंत्रालय ने बताया कि इस बार सम्मेलन की थीम ‘वैश्विक स्थिरता, साझा सुरक्षा और अभिनव विकास’ रहेगी। बता दें कि ब्रिक्स देशों के संगठन में पांच तेज गति से उभर रही अर्थव्यवस्थाओं वाले देश हैं। इनमें ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं।

ब्रिक्स देशों में ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं। इस शिखर सम्मेलन में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी हिस्सा लेंगे। भारत-चीन के बीच सीमा विवाद के दौरान एक महीने में ये पीएम मोदी और जिनपिंग की दूसरी मुलाकात है।

पिछले हफ्ते शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में भी पीएम नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग शामिल हुए थे। सीमा विवाद को लेकर इस मुलाकात पर सबकी नजरें रहेंगी। ब्रिक्स देश इस सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लेंगे।

BRICS summit में इन मुद्दों पर होगी चर्चा इस बैठक में चीनी राष्ट्रपति के अलावा रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो भी शामिल होंगे। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि आज (17 नवंबर) को होने वाले ब्रिक्‍स सम्‍मेलन में आतंकवाद, कोरोना वायरस महामारी, व्यापार, स्वास्थ्य पर चर्चा होगी। इसके अलावा महामारी को लेकर सभी देशों को हुए नुकसान की भरपाई के उपायों जैसे मुद्दों पर भी चर्चा होगी।

विदेश मंत्रालय के मुताबिक, पीएम मोदी राष्ट्रपति पुतिन के निमंत्रण पर रूस की मेजबानी में हो रही ब्रिक्स देशों के 12वें शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे। 2021 में भारत करेगा BRICS summit की मेजबानी विदेश मंत्रालय ने कहा है, बैठक में अगले ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के लिए भारत को अध्यक्षता सौंपी जाएगी। यानी भारत 2021 में होने वाले 13वें ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा। हालांकि भारत ने 2012 और 2016 में ब्रिक्स देशों के शिखल सम्मेलन की अध्यक्षता की है।

पिछले हफ्ते भी चीनी राष्ट्रपति और पीएम मोदी थे आमने-सामने ब्रिक्स देशों का यह सम्मेलन ऐसे वक्त हो रहा है, जब भारत और चीन के बीच मई 2020 से लेकर सीमा विवाद चल रहा है। हालांकि भारत और चीन में सीमा विवाद को लेकर कई बार मेजर जनरल और विदेश मंत्रालय की बातचीत हुई है लेकिन गतिरोध अब भी बरकरार है। पिछले हफ्ते पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शंघाई सहयोग संगठन की बैठक के दौरान वर्चुअली एक-दूसरे के आमेन सामने थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button