गुजरात दौरे पर जामनगर पहुंचे PM मोदी, करोड़ों की परियोजना की करेंगे शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिन के गुजरात दौरे पर शनिवार सुबह जामनगर पहुंचे. यहां गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने उनकी अगवानी की. अपने गृह राज्य में प्रवास के दौरान वह कई परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे. इस दौरान मोदी 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार अपने जन्मस्थान वडनगर भी जाएंगे. मोदी गुजरात दौरे की शुरुआत सुबह द्वारकाधीश मंदिर में दर्शन के साथ करेंगे. बता दें कि हाल ही में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी द्वारका के मंदिर में पूजा-अर्चना की थी.

द्वारका में मोदी राष्ट्रीय राजमार्ग-51 पर बेत द्वारका और ओखा के बीच मोटी तारों पर खिंचे सिग्‍नेचर ब्रिज के निर्माण की आधारशिला रखेंगे. इस पुल की परियोजना लागत 962 करोड़ रुपये है. गुजरात में मोदी 5,825 करोड़ रुपये की लागत वाली चार राष्‍ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे.

इस दौरान जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी जाएगी, उनमें राष्ट्रीय राजमार्ग-51 के 116.24 किलोमीटर लम्‍बे पोरबंदर-द्वारका खंड को चार लेन बनाना, 370 करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय राजमार्ग-51 के 93.56 किलोमीटर लम्‍बे गडू-पोरबंदर खंड को 2/4 लेन का बनाना और 2893 करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय राजमार्ग-47 एवं राष्ट्रीय राजमार्ग-27 के 201.31 किलोमीटर लम्‍बे अहमदाबाद-राजकोट खंड को छह लेन का बनाना शामिल है. मोदी द्वारका में एक सभा भी संबोधित करेंगे.

मोदी द्वारका से सुरेंद्रनगर जिले के चोटिला जाएंगे जहां वह राजकोट के ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे, छह लेन वाले अहमदाबाद-राजकोट राष्ट्रीय राजमार्ग और चार लेन वाले राजकोट-मोरबी राज्य मार्ग की आधारशिला रखेंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि वो सुरेंद्रनगर के जोरावरनगर एवं रतनपुर इलाकों में अत्याधुनिक दुग्ध प्रसंस्करण एवं पैकेजिंग संयंत्र तथा पेयजल आपूर्ति पाइपलाइन भी राज्य को समर्पित करेंगे. यहां भी मोदी एक सभा को संबोधित करेंगे.

इसके बाद मोदी गांधीनगर रवाना हो जाएंगे जहां वह आईआईटी-गांधीनगर की नयी इमारत का उद्घाटन करेंगे और प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान की शुरुआत करेंगे. इस अभियान का मकसद ग्रामीण इलाकों में लोगों को डिजिटल तौर पर साक्षर बनाना है.

इस दौरे में प्रधानमंत्री रविवार सुबह वडनगर जाएंगे और इंद्रधनुष मिशन की शुरुआत करेंगे. साथ ही स्वास्थ्यकर्मियों को टैबलेट वितरित करने का भी उनका कार्यक्रम है. मोदी रविवार दोपहर को ही भरूच जाएंगे जहां वह नर्मदा नदी पर बने नए बैराज के निर्माण की आधारशिला रखेंगे. इसके साथ उधाना और जयनगर (बिहार) के बीच चलने वाली अंत्योदय एक्स्रपेस को हरी झंडी दिखाएंगे. दिल्ली वापस आने से पहले एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे. बता दें कि वडनगर में प्रधानमंत्री के स्वागत की तैयारी जोरों पर है। साफ-सफाई का काम तेजी से चल रहा है। रेलवे स्टेशन परिसर के भीतर पेड़ों तक को धोया जा रहा है। इसके लिए फायर ब्रिगेड की गाड़ियां लगाई गई हैं

प्रधानमंत्री के पांच भाई बहनों में सबसे बड़े भाई सोमाभाई दामोदर दास मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार वडनगर आ रहे हैं और इसको लेकर बडनगर और आसपास के गांव बादरपुर, मोलीपुर समेत इस पूरे इलाके में खासा उत्साह है. वे देश की सेवा में लगे हैं और हम सभी का आर्शीवाद उनके साथ है. उन्होंने बताया कि वडनगर में उनके पिताजी ने 1949 में मकान बनाया था लेकिन उसके बगल से नगरपालिका की पाइप गुजरती थी, उसके लीकेज के कारण मकान को क्षति पहुंची और फिर 2001 के भूकंप के दौरान नुकसान हुआ. वह घर जर्जर हो गया था, इसलिये हमने उसे बेच दिया.

Back to top button