राष्ट्रीय

आडवाणी के जन्मदिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुलाकात कर दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी को केक भी खिलाया

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उप प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी आज को 93 वर्ष के हो गए. लाल कृष्ण आडवाणी भाजपा के उन वरिष्ठतम नेताओं में से हैं जिन्होंने दशकों तक भाजपा को सशक्त बनाने के लिए मेहनत की. उन्होंने राम मंदिर आंदोलन की अगुआई की तो राम मंदिर बनते भी देखा.

इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के वरिष्ठ नेता के घर पर उनसे मुलाकात की और उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी को केक भी खिलाया. आइए जानते हैं लाल कृष्ण आडवाणी के जीवन से जुड़ी कुछ अनकही बातें.

लाल कृष्ण आडवाणी का जन्म कराची (अब पाकिस्तान) में 1927 में हुआ था. उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के स्वयंसेवक के तौर पर अपने सार्वजनिक जीवन की शुरुआत की. भाजपा को फर्स से अर्स तक लाने का श्रेय लाल कृष्ण आडवाणी को जाता है.

आडवाणी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे. 1997 में मोरारजी देसाई की सरकार में भी सूचना और प्रसारण मंत्री रहे. इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में दो बार गृह मंत्री (1998-99, 1999-2004) और उप प्रधानमंत्री (2002 से 2004) रह चुके हैं.

राजनीति में अटल – आडवाणी की जोड़ी सबकी चहेती रही है. दोनों के कई किस्से सुनने को मिलते हैं. ऐसा ही एक किस्सा है 1995 का जब वाजपेयी जी ने आडवाणी जी को जन्मदिन पर सरप्राइज दिया. इसी दौरान माहौल ऐसा भी बना कि वाजपेयी जी ने आडवाणी जी के बगल में बैठने भी से इनकार कर दिया और आडवाणी की पत्नी कमला आडवाणी को अपनी कुर्सी दे दी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button