ट्रेन 18 को इस दिन हरी झंडी दिखाएंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जानिए किस रूट पर चलेगी

नई दिल्ली:

भारतीय रेलवे की पहली बिना इंजन वाली ट्रेन 18 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हरी झंडी दिखाएंगे। एफई की खबर के मुताबिक ये ट्रेन 29 दिसंबर को शुरू होगी। ट्रेन 18 को आईसीएफ चेन्नई में बनाया गया है। ये भारत की सबसे तेज ट्रेन है जिसकी स्पीड 180 किलोमीटर प्रति घंटा है। इस ट्रेन की टेस्टिंग दिल्ली राजधानी रूट पर हुई थी।

सूत्रों के मुताबिक इस ट्रेन को दिल्ली और वाराणसी के बीच चलाया जाएगा। वाराणसी पीएम मोदी का लोकसभा क्षेत्र है। अभी ये तय नहीं हुआ है कि पीएम मोदी इस ट्रेन को दिल्ली या वाराणसी कहां से हरी झंडी दिखाएंगे। इस ट्रेन में कई नए तरह के फीचर्स हैं।

इस ट्रेन के दरवाजे ऑटोमैटिक खुलते बंद होते हैं। इसके अलावा ये दिव्यांग लोगों के हिसाब से बनाए गए हैं। ट्रेन 18 को अधिकतम 160 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से चलाया जाएगा। इस स्पीड पर सिर्फ गतिमान एक्सप्रेस ही चलती है।

ट्रेन 18 इसका कोड नाम है। इसको 2018 में बनाया गया इसलिए इसे ये नाम दिया गया। रेलवे इसका नाम बदलने पर भी विचार कर रहा है। ये ट्रेन पूरी तरह एसी चेयर कार से लेस है। इसके जरिए धीरे-धीरे शताब्दी एक्सप्रेस की फ्लीट को बदल दिया जाएगा।

इसमें एक्जिक्यूटिव क्लास में रोटेटिंग सीट, मॉड्यूलर बायो वैक्यूम टॉयलेट्स, फ्लाइट जैसी लाइटिंग, कुशन वाली लगेज रैक, पढ़ने के लिए अलग लाइट जैसे फीचर्स हैं। इसमें पैंट्री भी बेहतर होगी। साथ ही व्हील चेयर पार्किंग की जगह भी होगी। इस ट्रेन की लागत 100 करोड़ रुपए है।

new jindal advt tree advt
Back to top button