अंतर्राष्ट्रीय

निजी एयरलाइन कंपनी के मालिक पर आरोप, करोड़ों का घोटाला करके देश से फरार

इस्लामाबाद :
निजी एयरलाइन कंपनी शाहीन एयर इंटरनेशनल के मालिक पर करोड़ों का घोटाला करके देश से फरार हो जाने का आरोप सामने आया है।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि शाहीन एयर इंटरनेशनल के चेयरमैन काशिफ महमूद सहबई और सीईओ एहसान खालिद सहबई का नाम देश छोड़कर बाहर न जा सकने वाली सूची ‘एक्जिट कंट्रोल लिस्ट’ में भी था।

लेकिन पाकिस्तान में भ्रष्टाचार की बानगी ऐसी है कि इस लिस्ट में नाम होने के बावजूद दोनों देश छोड़कर भागने में कामयाब हो गए हैं। उन पर एयर लाइन ऑपरेशन का भी 136 लाख रुपये (भारतीय मुद्रा में) बकाया है।

सइबई बंधुओं के देश से भागने की आशंका नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) को पहले से ही थी यही कारण था कि उसने पाकिस्तानी गृह मंत्रालय को भी इससे अवगत करा दिया था।

कई महीनों से रदद् थी उड़ाने..नहीं मिली हजारों कर्मचारियों को सैलरी
साई की घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ाने अक्तूबर महीने से रद्द थीं। कंपनी के 2800 कर्मचारियों को बीते कई महीनों से वेतन नहीं दिया जा रहा था जिसकी वजह से कर्मचारी वेतन की मांगों के साथ प्रदर्शन कर रहे थे।

साई के अधिकारियों पर 1.36 बिलियन का बकाया
नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के अधिकारी ने बताया कि हमने सितंबर माह में ही साई के अध्यक्ष महमूद सेहबई और सीईओ एहसान खालिद सेहबई की जानकारी गृहमंत्रालय को सौंप दी थी।

साथ ही उन अधिकारियों को सूचना दी थी कि इनदोनों के नाम एक्जिट कंट्रोल लिस्ट में डाला जाए क्योंकि ये दोनों देश से कभी भी भाग सकते हैं।

लेकिन हमारे अनुरोध को सुना नहीं गया और साई के दोनों मालिक देश छोड़कर भागने में कामयाब हो गए हैं। बता दें कि साई के अधिकारियों पर 1.36 बिलियन का बकाया है।

अधिकारी ने बताया कि बकाया कि वसूली को लेकर हमलोगों ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था उस समय साई के मालिक देश में ही थे। उस दौरान अथॉरिटी द्वारा उगाही करना आसान होता लेकिन न तो मंत्रालय ने और न ही जांच एजेंसी ने ही इस बात पर ध्यान दिया।

अधिकारी ने बताया कि हमने फेडरल इनवेस्टीगेशन एजेंसी को भी एयरलाइन के घोटाले की जानकारी दे दी थी।

पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक सीएए के पास साई के आठ विमान हैं। अधिकारी ने बताया कि वह विमान सीएए के पास इसलिए हैं क्योंकि वह उड़ने की कंडीशन में नहीं हैं। सीएए साई से पार्किंग के लिए चार्ज करता है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
निजी एयरलाइन कंपनी के मालिक पर आरोप, करोड़ों का घोटाला करके देश से फरार
Author Rating
51star1star1star1star1star