निजी अस्पतालों में नहीं होगा स्मार्ट कार्ड से इलाज, बकाया राशि नहीं देने पर IMA नाराज

रायपुर। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की बैठक में आज हॉस्पिटल बोर्ड रायपुर के अध्यक्ष डॉक्टर राकेश गुप्ता ने कहा कि सरकार द्वारा 40 करोड़ रुपए स्मार्ट कार्ड के बकाया है। इसे अब तक प्राइवेट अस्पतालों को नहीं दिया गया है। इस वजह से अब आईएमए ने फैसला लिया है कि सभी अस्पतालों में स्मार्ट कार्ड से इलाज नहीं होगा।

डॉ राकेश गुप्ता ने यह भी कहा कि प्रदेश में 500 से ज्यादा प्राइवेट हॉस्पिटल है। जहां स्मार्ट कार्ड की सुविधा है लेकिन राज्य सरकार द्वारा बीते सालों से स्मार्ट कार्ड का भुगतान डॉक्टरों को नहीं किया जा रहा है। जबकि 40 करोड रुपए राशि राज्य सरकार को प्राइवेट अस्पतालों को देना है। आज मेडिकल कॉलेज में बैठक आयोजित कर डॉक्टरों ने फैसला लिया है कि आज से ही स्मार्ट कार्ड में मरीजों का इलाज बंद कर देंगे।

बता दें कि राज्य में सरकार द्वारा हर परिवार को निशुल्क उपचार के लिए स्मार्ट कार्ड बनाया गया है। जिसमें 50 हजार तक का निशुल्क इलाज किया जाता था। इस योजना से गरीबों को काफी मदद मिल रही थी। शासकीय अस्पतालों के अलावा निजी अस्पतालों में भी इसके द्वारा उपचार किया जाता रहा है।

Back to top button