पेशेवर नेटवर्किंग कंपनी LinkedIn के लगभग 500 मिलियन यूजर्स का निजी डाटा हैक

डाटा ब्रीच के इस मामले में साइबर न्यूज ने एक रिपोर्ट जारी की

नई दिल्ली: माइक्रोसॉफ्ट के स्वामित्व वाले पेशेवर नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म लिंक्डइन के 50 करोड़ उपयोगकर्ताओं का डेटा लीक हो गया है. कथित तौर पर यह डेटा ऑनलाइन बेचा जा रहा है.

50 करोड़ लिंक्डइन प्रोफाइल से डेटा को कथित रूप से स्क्रैप किए गए अर्काइव को एक लोकप्रिय हैकर फोरम पर बिक्री के लिए रखा गया है. इतना ही नहीं हैक के पीछे शामिल लोगों ने लीक हुए 20 लाख रिकॉर्ड को तो नमूने के तौर पर पेश भी किया है.

डाटा ब्रीच के इस मामले में साइबर न्यूज ने एक रिपोर्ट जारी की है. इस रिपोर्ट के अनुसार लीक हुई जानकारी में LinkedIn आईडी, पूरा नाम, ईमेल एड्रेस, फोन नंबर, LinkedIn प्रोफाइल के लिंक, अन्य सोशल मीडिया प्रोफाइल के लिंक, और अन्य काम से संबंधित डाटा शामिल है.

LinkedIn ने डाटा ब्रीच से किया इंकार

हालांकि LinkedIn ने डाटा ब्रीच होने की संभावना से इंकार करते हुए अपने बयान में कहा, “हमने ऑनलाइन बेचने के पोस्ट किए गए LinkedIn यूजर्स के डाटा को लेकर जांच की है. जांच में पता चला है कि दरअसल ये डाटा कई वेबसाइटों और कंपनियों के डाटा को एकत्रित कर ऑनलाइन लीक किया गया है. इसमें वो डाटा शामिल है जिसे सार्वजनिक रूप से देखा जा सकता है जिसे LinkedIn से स्क्रैप किया गया है. किसी भी यूजर्स के अकाउंट के अंदर की निजी जानकारी इसमें शामिल नहीं है.”

कंपनी ने साथ ही अपने बयान में कहा, “अगर हमारे यूजर्स के डाटा का कोई दुरुपयोग करता है तो वो कंपनी की पॉलिसी का उल्लंघन है. अगर कोई भी हमारे यूजर का डाटा बिना उनकी सहमति के इस्तेमाल करता है तो हम अपनी जिम्मेदारी के तहत उन्हें रोकते हैं और जवाबदेह ठहराते हैं.”

कुछ समय पहले Facebook यूजर्स के डाटा लीक का मामला आया था सामने कुछ समय पहले इसी तरह सोशल मीडिया वेबसाइट Facebook के यूजर्स का डाटा लीक होने का मामला भी सामने आया था.

इस दौरान 533 मिलियन फेसबुक यूजर्स का निजी डाटा हैकिंग फोरम पर लीक हुआ था. इसमें अमेरिका के 3.2 करोड़ और भारत के 60 लाख यूजर्स का निजी डाटा शामिल था. लीक की गयी जानकारी में Facebook यूजर्स के ईमेल, फोन नंबर, फेसबुक आईडी, लोकेशन, जन्मतिथि और बायो की जानकारी शामिल थी. 

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button