शॉर्ट ड्रेस में नजर आने पर विवादों में घिरी प्रियंका चोपड़ा

प्रधानमंत्री मोदी के साथ शॉर्ट ड्रेस में नजर आने पर विवादों में घिरी प्रियंका चोपड़ा एक बार फिर अपने कपड़ों के चलते विवाद में घिर गई हैं. हाल ही में असम टूरिज्म डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन का नया कैलेंडर रिलीज किया गया

प्रधानमंत्री मोदी के साथ शॉर्ट ड्रेस में नजर आने पर विवादों में घिरी प्रियंका चोपड़ा एक बार फिर अपने कपड़ों के चलते विवाद में घिर गई हैं. हाल ही में असम टूरिज्म डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन का नया कैलेंडर रिलीज किया गया, जिसमें प्रियंका भी नजर आ रही हैं. इस कैलेंडर में छपे प्रियंका के फोटो पर कांग्रेस पार्टी के एक नेता ने अपना विरोध जताया है. नेताओं ने प्रियंका के ड्रेस पर असम की सभ्यता को गलत तरीके से पेश करने की बात कही है. दरअसल प्रियंका इस कैलेंडर में एक फ्रॉक पहने नजर आ रही हैं. याद दिला दें कि प्रियंका चोपड़ा असम राज्य की टूरिज्म एम्बेसडर हैं.

असेंबली सेशन के दौरान कांग्रेस पार्टी की मेंबर रूपज्योती कुर्मी (एमएलए, मरिअनी), रोजलीन टिर्की (एमएलए, सारुपथर) और नंदिता दास (एमएलए, बोको) ने प्रियंका चोपड़ा पर आरोप लगाया कि उनके इस ड्रेस और पहनावे के कारण असम की सभ्यता को गलत तरह से पेश किया गया है. इसलिए उन्होंने असम के ब्रांड एम्बेसडर पद से हटा देना चाहिए. टाइम 8 से बातचीत में कांग्रेस पार्टी ने कहा कि फ्रॉक किसी भी तरह से असम की वेशभूषा नहीं है और कैलेंडर पर छपे ये फोटोज बिलकुल भी सभ्य नहीं है. फ्रॉक की बजाय प्रियंका को यहां की पारंपरिक मेखेला चादर का इस्तमाल करना चाहिए थे. इसलिए अब उनके खिलाफ विरोध किया जा रहा है.

वहीं इस रिपोर्ट के अनुसार असम टूरिज्म डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन के चेयरमैन जयंत मल्लाह बरुआ ने प्रियंका का बचाव किया है और उनके ड्रेस में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं माना है. उनका कहना है कि इस कैलेंडर को इसलिए बनाया गया है ताकि असम को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रमोट किया जा सके. इसलिए इस कैलेंडर को कई इंटरनेशनल टूर ऑपरेटर्स के पास भी भेजा जा चुका है.

Back to top button