राष्ट्रीय

जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी के पीआरओ की कोरोना से मौत

एक बार फिर से बंद हो सकती है जामा मस्जिद

नई दिल्ली: पिछले हफ्ते कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी के पीआरओ अमानतुल्ला को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया. लेकिन वो कोरोना को नहीं हरा सके और मंगलवार देर रात उनकी मौत हो गई.

गौरतलब है कि जामा मस्जिद से जुड़े कर्मचारी की मौत चिंता का विषय है क्योंकि सरकार के आदेश के बाद बीते 8 जून से जामा मस्जिद भी खोल दी गई है जहां लोग नमाज अदा कर रहे हैं. ऐसे में जहां पूरी दिल्ली कोरोना वायरस की गंभीर स्थिति में पहुंच गई है वहां दिल्ली के सबसे बड़े धार्मिक स्थल से जुड़ा कोरोना का यह मामला काफी चिंताजनक है.

इमाम बुखारी भी हालात पर सक्रिय हैं, उन्होंने खुद लोगों से अपील करने के साथ राय भी मांगी है कि कुछ समय के लिए मस्जिद को बंद रखा जाए ताकि कोरोना संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके.

बता दें कि कोरोना लॉकडाउन का पांचवा चरण चल रहा है, लेकिन इस दौरान तमाम किस्म की छूट भी गई हैं. केंद्र सरकार ने धार्मिक स्थलों को खोलने की भी छूट दी थी, जिसके बाद दिल्ली सरकार ने सभी धार्मिक स्थल खोलने की परमिशन दे दी. आठ जून से दिल्ली के तमाम मंदिर-मस्जिद पूजा-नमाज के लिए खोल दिये हैं, लेकिन इस बीच दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण भी तेजी से बढ़ रहा है.

Tags
Back to top button