प्रो कुश्ती लीग : प्रो रेसलिंग लीग के चौथे सत्र में हिस्सा नही लेंगे सुशील कुमार

इस सत्र में खेलने के फैसले का इंतजार था, लेकिन कॉमनवेल्थ गेम्स के स्वर्ण पदक विजेता ने सहमति नहीं दी।

दो बार के ओलिंपिक पदक विजेता भारतीय पहलवान सुशील कुमार इस बार भी प्रो कुश्ती लीग पीडब्ल्यूएल के चौथे सत्र में हिस्सा नहीं लेंगे।

एशियन गेम्स की स्वर्ण पदक विजेता विनेश फोगाट और बजरंग पूनिया पहलवानों के ड्राफ्ट में आकर्षण के केंद्र में रहेंगे।

14 जनवरी से शुरू हो रहे इस सत्र के लिए शुक्रवार को गुरुग्राम में ड्राफ्ट निकलेगा, जिसके लिए सुशील ने फॉर्म नहीं भरा है।

इसके बाद उनके इस सत्र में खेलने या नहीं खेलने के कायसों पर भी विराम लग गया। पीडब्ल्यूएल से जुड़े एक सूत्र ने यह जानकारी दी।

हालांकि, भारतीय कुश्ती संघ (डब्ल्यूएफआई) और पीडब्ल्यूएल के अधिकारियों को सुशील के इस सत्र में खेलने के फैसले का इंतजार था, लेकिन कॉमनवेल्थ गेम्स के स्वर्ण पदक विजेता ने सहमति नहीं दी।

पिछली बार भी लीग में सुशील को दिल्ली सुल्तांस ने 55 लाख रुपये में खरीदा था, लेकिन एक मुकाबले में ब्लॉक किए जाने के बाद उन्होंने घुटने की चोट के चलते अपना नाम वापस ले लिया था। वह शुरुआती दो सत्र में भी नहीं खेले थे।

एशियन गेम्स की स्वर्ण पदक विजेता विनेश फोगाट और बजरंग पूनिया पहलवानों के ड्राफ्ट में आकर्षण के केंद्र में रहेंगे।

उनके अलावा रियो ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक और युवा पहलवान पूजा ढांडा भी इसमें शामिल हैं।

ड्राफ्ट में ओलंपिक पदक विजेता, विश्व चैंपियन और कई स्टार पहलवान सहित 225 पहलवान शामिल हैं। इस बार एक नई टीम को भी लीग में जोड़ा गया है और कुल छह टीमें शिरकत करेंगी।

मध्य प्रदेश (एमपी) योद्धा के नाम से यह टीम इस चौथे सत्र में उतरेगी। इसके अलावा लीग में दिल्ली सुल्तांस, यूपी दंगल, हरियाणा हैमर्स, मुंबई महारथी और एनसीआर पंजाब रॉयल्स टीमें हैं।

लीग में इनामी राशि एक करोड़ 90 लाख रुपये की होगी, जबकि उप विजेता को एक करोड़ 10 लाख रुपये मिलेंगे।

1
Back to top button