छत्तीसगढ़

रेलवे से माल ढुलाई में आने वाली परेशानियां दूर होंगी : शशिकांत सिंह

राष्ट्र निर्माण में जेएसपीएल से हाथ मिलाएगा ईस्ट कोस्ट रेलवे

जेएसपीएल के प्रबंध निदेशक वीआर शर्मा के साथ ओडिशा के अंगुल प्लांट का भ्रमण, सहयोग के रास्ते तलाशने के लिए प्रत्येक महीने होगी बैठक

रायपुर, 5 फरवरी 2021 : वैश्विक महामारी कोविड-19 को काबू करने के बाद भारत ने अर्थव्यवस्था को पुनः पटरी पर लाने की कवायद तेज कर दी है। इसके तहत निजी क्षेत्र का सहयोग कर न सिर्फ उनकी कठिनाइयां दूर करने के प्रयास किये जा रहे हैं बल्कि कारोबार के विस्तार में उन्हें बड़े पैमाने पर सहयोग प्रदान करने का रास्ता भी तैयार किया जा रहा है।

इसी नई रणनीति के तहत कल देर शाम ईस्ट कोस्ट रेलवे, खुर्दा रोड मंडल के डीआरएम शशिकांत सिंह ने अपनी टीम के साथ जाने-माने उद्योगपति नवीन जिन्दल के नेतृत्व वाली कंपनी जेएसपीएल के ओडिशा स्थित अंगुल प्लांट का भ्रमण किया और राष्ट्र सेवा में परस्पर सहयोग के रास्ते तलाशे।

यहां जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार शशिकांत सिंह ने स्टील उत्पादन में वृद्धि के जेएसपीएल के संकल्पों की सराहना करते हुए सार्थक समन्वय की इच्छा जताई है। जेएसपीएल के प्रबंध निदेशक वीआर शर्मा व अन्य अधिकारियों के साथ अंगुल प्लांट का भ्रमण करते हुए सिंह ने कहा कि उनका मकसद जेएसपीएल की विस्तार योजना से तालमेल बिठाकर आवश्यक सहयोग प्रदान करना है ताकि स्टील उत्पादन बढ़े, जिससे हमारा देश गौरवान्वित हो।

ईस्ट कोस्ट रेलवे के डीआरएम ने कहा

ईस्ट कोस्ट रेलवे के डीआरएम ने कहा कि तेजी से बढ़ते यातायात के मद्देनजर उनकी टीम जेएसपीएल के साथ दीर्घकालिक योजना पर कार्य करने के लिए तैयार है, “हमारा ध्यान जेएसपीएल प्लांट के अंदर और रेलवे ट्रैक पर कंधे से कंधा मिलाकर काम करने पर केंद्रित है ताकि कच्चे और तैयार माल की आवाजाही में कोई बाधा न आए।”

दोनों पक्षों के बीच हुई बातचीत में तय हुआ कि जेएसपीएल और ईस्ट कोस्ट रेलवे की टीमें बारी-बारी से अंगुल और खुर्दा में प्रत्येक माह आपस में मिलकर बैठक करेंगी और माल वाहन की जरूरतों और परस्पर व्यावसायिक तरक्की के विषयों पर आपस में विचार-विमर्श करेंगी। सिंह ने बैठक के दौरान ऊर्जा आवश्यकताओं और ऊर्जा संबंधी बुनियादी ढांचे में सुधार के मुद्दों पर भी चर्चा की।

जेएसपीएल के प्रबंध निदेशक वीआर शर्मा ने शशिकांत सिंह और उनकी टीम का धन्यवाद करते हुए कहा कि ईस्ट कोस्ट रेलवे की ओर से सहयोग का हाथ बढ़ाए जाने से उनकी टीम का उत्साहवर्धन हुआ है और उन्हें विश्वास है कि अंगुल प्लांट बड़ी उपलब्धियां हासिल करेगा और आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने में प्रभावशाली योगदान करेगा। शशिकांत सिंह के साथ इस अवसर पर ईस्ट कोस्ट रेलवे के इंजीनियरिंग, ऑपरेशंस, कॉमर्शियल, सिविल इंजीनियरिंग, सिग्नल और मेकैनिकल विभागों के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button