छत्तीसगढ़बड़ी खबरराज्य

कबीरधामःधान के अवैध भण्डारण पर कार्यवाही जारी

कबीरधामः धान के अवैध भण्डारण पर कार्यवाही जारी, 32 लाख रूपए के धान जब्त

हिमांशु सिंह ठाकुर

कवर्धा, 27 दिसम्बर 2019।

कबीरधाम जिले में पडोसी राज्यों तथा सीमावर्ती जिलों से आने वाले धान के अवैध परिवहनों और धान के अवैध खरीदी तथा भण्डारण की निगरानी के लिए बनाई गई जिला स्तरीय टीम में पंडरिया के पंडरीखार कुकदूर और कवर्धा विकासखण्ड के पिपरिया में बडी कार्यवाही की। इन दोंनो स्थानों में अकास्मिक रूप से दबिश देते हुए 2659 बोरा धान लगभग 1318 क्विंटल धान जब्त किया है।

जब्त धान की किमत 32लाख 90 हजार रूपए बताई जा रही है।

पंडरिय एसडीएम श्री प्रकाश टंण्डन ने बताया कि पंडरिया वनांचल क्षेत्र में अवैध धान परिहवन एवं भंडारण की संदेह के आधार पर आज 27 दिसम्बर 2019 को नायब तहसीलदार पंडरिया विनोद बंजारे, राजस्व निरीक्षक पंचराम श्याम एवं हल्का हितेश शर्मा के द्वारा अज्ञात सूचना के आधार पर ग्राम पंडरीखार कुकदुर स्थित श्री राम पिता धनीराम निवासी ग्राम पुटपुटा कुकदुर के गोदाम का अकास्मिक रूप से जांच किया गया।

जांच में पाया गया कि उस व्यक्ति के गोदाम में 2551 बोरी धान लगभग 1275 क्विटल मूल्य लगभग 31 लाख 88 हजार रुपऐ का धान का भंडारण अवैध रूप से पाया गया। संबंधित व्यक्ति के पास भंडारण सम्बन्धी किसी भी प्रकार का कोई मंडी अनुज्ञप्ति या दस्तावेज नही मिला।

उक्त सभी 2551 बोरी धान को जब्त किया कर सम्बंधित व्यक्ति के सुपुर्द में दिया गया है और निर्देशित किया है कि सक्षम अधिकारी के अनुमति के बिना उक्त सभी धान का अन्यत्र स्थानांतरण या विक्रय नही किया जाएगा।

कवर्धा नायब तहसीलदार हेमन्त पैकरा खाद्य निरीक्षक जानकीशरण कुशवाहा व मंडी निरीक्षक मनोज वैष्णव के द्वारा पिपरिया में कोचिया भरत गुप्ता के दुकान यहां बिना वैध दस्तावेज के 108 बोरा लगभग 43 क्विंटल धान को मंडी अधिनियम के तहत जब्त कर कार्यवाही किया गया।

कलेक्टर ने धान के अवैध भण्डारणों पर लगातार कार्यवाही करने के निर्देश दिए

कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने जिले के कवर्धा, पंडरिया, बोड़ला अनुविभाग के एसडीएम,एसडीओपी, तहसीलदार और थाना प्रभारियों के साथ खाद्य, मडीं विभाग के अधिकारियों की संयुक्त टीम बनाकर जिले में पड़ोसी राज्यों से आने वाले धान के अवैध परिवहनों और स्थनीय स्तर पर कोचियों द्वारा धान के अवैध भण्डारणों पर लगातार कड़ी कार्यवाही जांच तेज करने के निर्देश दिए हैं।

Tags
Back to top button