गरमाया पहले चरण का प्रचार अभियान, सियासी तीर से सबने साधे निशाने

लखनऊ : पहले चरण के चुनाव में शामिल पश्चिमी उत्तर प्रदेश की आठ सीटों का सियासी माहौल अंतिम चरण में पूरे शबाब पर है। प्रचार खत्म होने के एक दिन पहले पार्टी प्रमुखों और स्टार प्रचारकों ने तूफानी दौरों में एक दूसरे पर सियासी तीर चलाकर अपने-अपने निशाने साधने की कोशिश की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिजनौर, मुजफ्फरनगर, शामली और बागपत की रैलियों में मायावती, अखिलेश समेत सभी को विरोधियों को निशाने पर रखा। योगी बोले, 1946-47 में दलित राजनीति करते हुए जोगेंद्रनाथ मंडल मुस्लिम लीग में शामिल हो गए थे। मायावती भी ऐसा ही विश्वासघात कर रही हैं। कहती हैं, उन्हें केवल मुस्लिम वोट चाहिए, बाकी नहीं। उन्हें सिर्फ मुस्लिम वोट चाहिए तो दूसरा वोट भी तय कर ही लेगा कि उसे कहां जाना है। उन्होंने उस सहारनपुर की धरती पर यह बयान देकर संविधान बनाने वाले डॉ. आंबेडकर और कांशीराम का अपमान किया है, जहां के मेडिकल कॉलेज से सपा सरकार ने कांशीराम का नाम हटा दिया था।

योगी बोले, अखिलेश यादव और अजित सिंह पिता की विरासत नहीं संभाल पाए। एक ने अपने पिता को निकाल दिया तो दूसरे ने पिता के आदर्शों को। आजम खां दंगाइयों को संरक्षण दे रहे हैं। जयंत चौधरी कह रहे, उन्होंने जाटों का ठेका नहीं ले रखा। आजादी के बाद महात्मा गांधी के कांग्रेस की जरूरत खत्म होने के बयान को जोड़ते हुए योगी ने कहा कि राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा उनका यह सपना पूरा करने ही आए हैं।

उधर, ग्रेटर नोएडा और मेरठ की सभाओं में मायावती ने कहा कि चुनाव आते ही भाजपा और कांग्रेस हवा-हवाई घोषणापत्रों से गरीबों-किसानों को बहकाते हैं। मोदी ने गरीबों को 15 लाख देने का वादा किया तो कांग्रेस 72 हजार रुपये का कर रही। हम केंद्र की सत्ता में आए तो गरीबों को नोट नहीं नौकरी देंगे। पुलवामा हमले के बाद भाजपा के राष्ट्रवाद का पर्दाफाश हो चुका है। उसे सत्ता में आने से रोकना है। मोदी की सराब (शराब) का नशा हमारे कार्यकर्ताओं पर चढ़ गया है, जो भाजपा को हार के गम तक पहुंचाएगा। कांग्रेस की भी नीतियां हमेशा गलत रहीं। अब कांग्रेस-भाजपा को आजमाने की जरूरत नहीं है। खुद को पीएम के रूप में पेश करते हुए कहा, दिल्ली से नमो को विदा कर जय भीम लाए जाएंगे। रालोद नेता जयंत चौधरी ने कहा कि भाजपा नेता सत्ता के नशे में धुत हैं।

बागपत की सभा में सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि मोदी व योगी महागठबंधन को महामिलावटी कहते फिर रहे हैं। उन्हें पता होना चाहिए कि यह महागठबंधन किसानों और आमजन का गठबंधन है, जो देश में महापरिवर्तन कर नया प्रधानमंत्री देगा। भाजपा का सफाया तय है। चुनाव बाद मुख्यमंत्री बाबा योगी फिर मठ में चले जाएंगे। महागठबंधन के पक्ष में जनता के जोश के सामने मशीनें (ईवीएम) कुछ नहीं कर पाएंगी।

कन्नौज में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि यहां डिंपल को हराने आया हूं। इसके बाद रामपुर में आजम खां को हराने जाऊंगा फिर आजमगढ़ में अखिलेश यादव को। देश में भाजपा की आंधी नहीं, सुनामी है। कन्नौज में भाजपा की बंपर जीत होगी। प्रधानमंत्री मोदी ने एक भी दिन छुट्टी नहीं ली। इसीलिए विपक्षी दल बौखला रहे हैं।

उन्नाव में भाजपा प्रत्याशी और सांसद साक्षी महाराज के नामांकन जुलूस में पहुंचे उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा, साक्षी महाराज की भारत ही नहीं, विदेश तक पहचान है। वह पीएम के लाडले सांसदों में एक हैं। एक संत को दूसरी बार मोदी ने उन्नाव की सेवा के लिए उतारा है। डॉ. शर्मा ने कहा कि मोदी ने देश की तरफ आंख उठाने वालों को करारा जवाब देकर 56 इंच का सीना होने का प्रमाण दिया है।

Back to top button